X

चाणक्य नीति- मित्र हो तो ऐसे|Chanakya Neeti About Friendship

चाणक्य नीति- मित्र हो तो ऐसे-Chanakya Neeti About Friendship

आचार्य चाणक्य एक ऐसा नाम है जिसे हम सब उनकी नीतियों के कारण जानते हैं I आचार्य चाणक्य की नीति का पालन करके लाखों लोगों ने अपनी जिंदगी को बेहतर बनाया है I एक अच्छा दोस्त एक सच्ची दौलत होता है , यदि हमें एक अच्छा दोस्त मिल जाता है तो हमारा जीवन काफी आसान हो जाता है क्योकि एक अच्छा दोस्त न सिर्फ सफलता में बल्कि असफलता के समय हमेशा साथ देता है और बुरे समय से निकलने में मदद करता है IChanakya Neeti About Friendship

परन्तु प्रश्न यह है कि एक अच्छे मित्र की पहचान कैसे की जाये? इस समय हम आचार्य चाणक्य जैसे नीतिकार की सलाह ले सकते हैं और अपने लिये एक अच्छा मित्र खोज सकते हैं I आचार्य चाणक्य के अनुसार एक अच्छे मित्र में निम्नलिखित गुण होने चाहिये I

Chanakya Neeti About Friendship

सही मार्ग दिखाने वाला व्यक्ति

जो व्यक्ति हमेशा आपको सही मार्ग दिखाएI आपको झूठी बातों से बचाकर वा​स्तविकता से जोड़े, वो वास्तव में आपका हितैषी होता हैI ऐसे व्यक्ति को मित्र बनाकर आपको कभी पछताना नहीं पड़ेगाI लेकिन जो लोग आपके मुंह पर तो अच्छी बातें करते हैं और पीठ पीछे बुराई करते हैं, वो कभी आपके सगे नहीं होतेI(Chanakya Neeti About Friendship)

बुरे समय में साथ देने वाला व्यक्ति

ज​ब किसी व्यक्ति का अच्छा समय होता है ​तो उसके आसपास बहुत सारे मित्र होते हैं, लेकिन जब कोई विपत्ति आती है, तो अधिकतर लोग साथ छोड़ जाते हैंI कुछ ही ​लोग पास होते हैं. ऐसे समय में आपके साथ रहने वाले लोग ही वास्तव में आपके मित्र होते हैंI इनको अपने जीवन का सच्चा हितैषी मानने में कोई हर्ज नहीं हैI(Chanakya Neeti About Friendship)

आपकी खुशी के लिए त्याग करने वाला

जो व्यक्ति आपकी खुशी के लिए अपनी खुशी को त्याग दे, ऐसा व्यक्ति वास्तव में आपका करीबी होता हैI उसका साथ कभी नहीं छोड़ना चाहिएI ऐसे लोग आपके हर अच्छे बुरे समय में आपके साथ रहते हैं. ये आपके लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं और सच्चे मित्र साबित होते हैंI Chanakya Neeti About Friendship

सज्जन पुरुष को ही मित्र बनाएं

आचार्य का मानना था कि जीवन में संगति का इंसान पर विशेष प्रभाव होता है, इसलिए मित्र बनाते समय इस बात का खयाल जरूर रखें कि वो व्यक्ति सज्जन पुरुष होI बुरा व्यक्ति आपका कितना ही सगा बनने की कोशिश करे, किसी न किसी दिन आपको धोखा दे ही देगा, साथ ही आपके आचरण को भी खराब कर देगाI (Chanakya Neeti About Friendship)

यह web story भी देखें- Chanakya Neeti About Friendship

यह भी पढ़ें- संगति का प्रभाव पर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.