X

शिक्षक दिवस पर 600 शब्दों में निबंध, भाषण । 600 Words Essay speech on Teacher’s Day in Hindi

शिक्षक दिवस पर 600 शब्दों में निबंध, भाषण । 600 Words Essay speech on Teacher’s Day in Hindi

शिक्षक दिवस से जुड़े छोटे निबंध जैसे शिक्षक दिवस पर  600 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  600 Words Essay speech on Teacher’s Day in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

600 Words Essay Speech on Teacher’s Day in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

प्रख्यात विद्वान, महान दार्शनिक एवं आदर्श शिक्षक तथा भारत के द्वितीय राष्ट्रपति सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन के कर्तृत्व से कौन परिचित नहीं है? इनका जन्म 5 सितंबर, 1888 को हुआ था। उन्होंने अपना सामाजिक जीवन एक शिक्षक के रूप में प्रारंभ किया था। इसके बाद धीरे-धीरे ये अपनी क्षमता एवं कार्य-कुशलता से अन्य उच्च पदों को सुशोभित करते हुए भारत के राष्ट्रपति पद तक जा पहुंचे। उनके मन में शिक्षकों के प्रति काफी आदर भाव था। वे सदैव सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक उत्थान के बारे में सोचा करते थे, क्योंकि उनका मानना था कि शिक्षक ही राष्ट्र के निर्माता हैं।

एक निर्धन एवं हीन भावना से ग्रस्त शिक्षक द्वारा राष्ट्र निर्माण की बात सोचना बेमानी है। इसलिए उन्होंने अपना जन्मदिवस शिक्षकों के नाम पर न्योछावर कर दिया। ऐसा करके उन्होंने कबीरदास की भांति शिक्षकों की महिमा मंडित की। यही कारण है कि संपूर्ण भारत में 5 सितंबर को ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।

लेकिन जिस धरती पर संत कबीरदास ने गुरु और गोविंद में से गुरु की महिमा को गोविंद से बढ़कर मंडित किया है, उसी धरती पर यह महिमा खंडित हो रही है। इसके लिए शिक्षक, छात्र और सरकार सभी दोषी हैं। आजादी के इतने वर्ष बाद भी सरकार द्वारा शिक्षकों के आर्थिक एवं सामाजिक उत्थान की दिशा में कोई विशेष कार्य नहीं किया गया। वित्त सहित शिक्षण संस्थानों में भी शिक्षकों को पूर्ण एवं नियमित वेतन नहीं दिया जा रहा है।

अभिभावकों और छात्रों द्वारा शिक्षकों को अपमानित करना आम बात हो गई है। इसके अतिरिक्त शिक्षकों के आचरण में भी गिरावट आई है। इन दिनों शिक्षक सिर्फ विद्यालय आने की खानापूर्ति करते हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि आज के शिक्षक विद्यालय के द्वारपाल की तरह मात्र कक्षपाल होकर रह गए हैं।

ऐसे माहौल में शिक्षक दिवस मनाने का महत्व अधिक बढ़ जाता है। शिक्षक दिवस पर कम से कम एक दिन तो समूचा राष्ट्र शिक्षकों के बारे में सोचता है एवं उनके विकास की बातें करता है। इस दिवस से संबंधित टिकट बेचकर प्राप्त राशि को शिक्षक कल्याण कोष में जमा किया है। इस कोष का उपयोग शिक्षकों को किसी आकस्मिक बीमारी के इलाज में शिक्षक के पुत्र-पुत्रियों को उच्च शिक्षा में एवं उनके अन्य कल्याणकारी कार्यों में होता है। इस दिन कुछ चुने हुए शिक्षकों को उनके विशिष्ट कार्य के लिए ‘राष्ट्रपति पुरस्कार’ से सम्मानित भी किया जाता है।

लेकिन आज जिस ढंग से शिक्षक दिवस मनाया जाता है, उससे लगता है कि सिर्फ एक रस्म अदायगी की जा रही है। इतने वर्षों के बाद भी लोग अभी तक इससे भावनात्मक रूप से नहीं जुड़ पाए हैं। अतः लोगों को चाहिए कि शिक्षक दिवस कार्यक्रम में शामिल होकर खुले हाथों से दान दें। शिक्षकों को चाहिए कि वे कोई ऐसा काम न करें, जिससे समाज में उनका सिर नीचा हो। उन्हें छात्रों के प्रति, समाज के प्रति और राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्य को गंभीरता से निभाना चाहिए। सिर्फ पैसों के लिए काम करने वाले शिक्षकों को समाज एवं राष्ट्र कभी सम्मान की दृष्टि से नहीं देखेगा।

संक्षेप में यही कहा जा सकता है कि शिक्षक दिवस सभी जनों के संकल्प का दिवस है। छात्रों को संकल्प लेना चाहिए कि वे शिक्षक समुदाय को सम्मान की दृष्टि से देखेंगे। सरकार को भी यह संकल्प लेना चाहिए कि वह शिक्षकों को बेहतर एवं वेतन प्रदान करेगी। शिक्षकों को भी संकल्प लेना चाहिए कि वे शिक्षण कार्य में सेवा भाव से जुड़े रहेंगे।

600 Words Essay speech on Teacher’s Day

शिक्षक दिवस पर अनमोल वचन – Best Quotes on Teacher’s Day

अंधकार को हटाकर प्रकाश कि और ले जाने वाला गुरू, जीवन की राह दिखाने वाला गुरू, इन्सान को इंसान बनाता है गुरू।

एक अच्छी शिक्षा किसी को भी बदल सकती है, लेकिन एक अच्छा शिक्षक सब कुछ बदल सकता है।


एक किताब, एक कलम, एक बच्चा, और एक शिक्षक दुनिया को बदल सकते हैं।


अच्छे शिक्षक आय के लिए नहीं, परिणाम के लिए इसमें हैं।


सबसे अच्छे शिक्षक वे हैं जो आपको दिखाते हैं कि कहाँ दिखना है लेकिन आपको यह नहीं बताना है कि क्या देखना है।


आपका सबसे अच्छा शिक्षक आपकी आखिरी गलती है।


एक शिक्षक जो सीखने से प्यार करता है वह दूसरों को सही सीखने में मदद करने की क्षमता अर्जित करता है।


एक अच्छा शिक्षक आशा को प्रेरित कर सकता है, कल्पना को प्रज्वलित कर सकता है, और सीखने के प्यार को बढ़ा सकता है।
600 Words Essay speech on Teacher’s Day


एक शिक्षक वह नहीं है जो आपको एक रास्ता चुनने देता है बल्कि वह है जो आपको अपने मार्ग में निर्देशित करता है।


एक शिक्षक जो सीखने की इच्छा के साथ शिष्य को प्रेरित किए बिना सिखाने का प्रयास कर रहा है, वह ठंडे लोहे पर हथौड़ा मार रहा है।


शिक्षक एक वर्ष के लिए नहीं, बल्कि जीवन भर के लिए प्रभाव डालते हैं।


शिक्षक ज्ञान का निर्माण करते हैं, महान शिक्षक अच्छे चरित्र का निर्माण करते हैं।


सबसे अच्छे शिक्षक किताब से नहीं दिल से सिखाते हैं।
600 Words Essay speech on Teacher’s Day


महान शिक्षक बच्चों के साथ सहानुभूति रखते हैं, उनका सम्मान करते हैं और मानते हैं कि प्रत्येक के पास कुछ समय विशेष है जिसे महान बनाया जा सकता है।


शिक्षक ज्ञान का बीज रोपते हैं जो जीवन भर रहता है।


एक शिक्षक अतीत को प्रस्तुत करता है, वर्तमान को प्रकट करता है और भविष्य बनाता है।


शिक्षा सबसे शक्तिशाली हथियार है जिसका इस्तेमाल आप दुनिया को बदलने के लिए कर सकते है।


शिक्षा तथ्यों की सीख नहीं है बल्कि मन को सोचने का प्रशिक्षण है।शिक्षक मोमबत्ती की तरह होते है, वे खुद को जला कर हम विद्यार्थियों कि जिंदगी रौशन कर देते है।
600 Words Essay speech on Teacher’s Day


शिक्षक के पास ही वो कला है जो मिट्टी को सोने में बदल सकती है।


शिक्षक हमें अपना लक्ष्य पाने के योग्य बनाते है।


आप केवल हमारे शिक्षक नहीं है, आप हमारे मित्र, दार्शनिक और मार्गदर्शक है, आप सभी को एक व्यक्ति में ढ़ालते है। हम आपके समर्थन के लिए हमेशा आभारी रहेंगे।


हमें शिक्षित करने के लिए कड़ी मेहनत और प्रयत्न के लिए हम आपके सदा आभारी रहेंगे।


दुनिया के लिए आप सिर्फ एक शिक्षक हो सकते हैं लेकिन आप अपने छात्रों के लिए एक नायक हैं।हम अपने जीवन के लिए माता-पिता के कर्जदार होते है लेकिन अच्छे व्यक्तित्व के लिए एक शिक्षक के ऋणी होते हैं।


किसी देश को महान बनाने के लिए माता-पिता और शिक्षक ही जिम्मेदार होते है।

मैं बहुत भाग्यशाली था कि मैं सही समय पर सही गुरु और शिक्षकों से मिला।


रचनात्मक अभिव्यक्ति और ज्ञान में आनंद को जगाना शिक्षक की सर्वोच्च कला है।


अच्छे शिक्षक जानते हैं कि छात्रों में सर्वश्रेष्ठ कैसे लाया जाए।


मैं जीने के लिए अपने पिता का ऋणी हूं लेकिन अच्छी तरह से जीवन यापन करने के लिए अपने शिक्षक का आभारी हूं।
600 Words Essay speech on Teacher’s Day


साक्षर हमें बनाते हैं, जीवन क्या है समझाते हैं, जब गिरते हैं हम हार कर, साहस वही बढ़ाते हैं ऐसे महान व्यक्ति ही तो शिक्षक गुरू कहलाते हैं।


शिक्षक वह है जो हमें अपने लिए सोचने में मदद करते हैं।


जीवन का पथ जहां से शुरू होता है वह राह दिखाने वाला गुरु होता है।


जिसके मन में गुरु के लिए सम्मान होता है उसके कदमों में एक दिन सारा जहान होता है।


खींचता था आड़ी टेड़ी लकीरें, आपने मुझे कलम चलाना सिखाया, ज्ञान का दीप जला मन में, मेरे अज्ञान के तमस को मिटाया।
600 Words Essay speech on Teacher’s Day


क्या दू गुरु दक्षिणा मैं यही मैं सोचूँ, चुका ने सकू कर्ज़ तुम्हारा, अपना चाहे जीवन सारा दे दूं।


आधुनिक शिक्षक का कार्य जंगलों को काटना नहीं है बल्कि रेगिस्तानों को सींचना है।


शिक्षक वह है जो आपको एक व्यक्ति से व्यक्तित्व बनाता है।


शांति का पाठ पढ़ाया और अज्ञानता का अंधकार मिटाया, गुरू ने ही हमें सिखाया की नफरत पर प्यार से ही विजय पा सकते हैं।


गुरू केवल वह नहीं है जो हमें कक्षा में पढ़ाते है, बल्कि हर वो व्यक्ति हमारा गुरू है जिससे हम सीखते है।


माँ-बाप की मूरत है गुरू, इस कलयुग में ईश्वर की सूरत है गुरू।


माता देती है जीवन, पिता देता है सुरक्षा पर शिक्षक से कहता है जीना।एक सफल शिक्षक वही है जिसमें सहनशीलता और सकारात्मकता होती है।600 Words Essay speech on Teacher’s Day


चंद शब्दों में नहीं होती बयां, ईश्वर के तुल्य है जिनकी काया, ऐसे गुरू वर को शत शत नमन, उनके चरणों में जीवन अर्पण।


दिया ज्ञान का भंडार मुझे, किया भविष्य के लिए तैयार मुझे, जो किया आपने उपकार, उसका आभार करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है।


शिक्षक और शिक्षा का हर व्यक्ति के जीवन में विशेष महत्व होता हैं।


एक अच्छे शिक्षक की तारीफ शब्दों में बयां नहीं की जा सकती है।


सत्य न्याय की राह पर चलना शिक्षक हमें सिखाते है, जीवन संघर्षों से लड़ना शिक्षक हमें सिखाते है, इस शिक्षक दिवस पर उस महान व्यक्तित्व को नमन।600 Words Essay speech on Teacher’s Day


शिक्षक कभी साधारण नहीं हो सकता, प्रलय और निर्माण उनकी गौद में पलते है।


गुरू का स्थान भगवान् से भी ऊपर होता है, क्योंकि गुरू ही हमें भगवान् तक पहुँचने का मार्ग बताते है।


हमारे लिए वो हर शख्स गुरू है जिससे भी हमने कुछ सिखा है।


अक्षर-अक्षर हमें सिखाते, शब्द शब्द का अर्थ बताते, कभी प्यार से कभी डांट से, जीवन जीना हमें सिखाते।


एक अच्छा शिक्षक अपने दिमाग से सिखाता है, अपने छात्रों को दिल से प्यार करता है और उन्हें कोमलतापूर्वक कड़े शब्दों के साथ मार्गदर्शन करता हैं।600 Words Essay speech on Teacher’s Day


शिक्षा के बिना इंसान भी जानवर के समान है।


शिक्षक केवल वे व्यक्ति है जो हमें अज्ञान से ज्ञान की और ले जाते है और अच्छे संस्कार देते हैं।


आज के समय में आपका विरोधी ही आपका सबसे बड़ा शिक्षक हैं।

शिक्षक दिवस पर अनमोल वचन – Best Quotes on Teacher’s Day

FAQ:-

शिक्षा दिवस क्यों मनाया जाता है?

प्रख्यात विद्वान, महान दार्शनिक एवं आदर्श शिक्षक तथा भारत के द्वितीय राष्ट्रपति सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन के कर्तृत्व से कौन परिचित नहीं है? इनका जन्म 5 सितंबर, 1888 को हुआ था। उन्होंने अपना सामाजिक जीवन एक शिक्षक के रूप में प्रारंभ किया था।

इसके बाद धीरे-धीरे ये अपनी क्षमता एवं कार्य-कुशलता से अन्य उच्च पदों को सुशोभित करते हुए भारत के राष्ट्रपति पद तक जा पहुंचे। उनके मन में शिक्षकों के प्रति काफी आदर भाव था। वे सदैव सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक उत्थान के बारे में सोचा करते थे, क्योंकि उनका मानना था कि शिक्षक ही राष्ट्र के निर्माता हैं।

एक निर्धन एवं हीन भावना से ग्रस्त शिक्षक द्वारा राष्ट्र निर्माण की बात सोचना बेमानी है। इसलिए उन्होंने अपना जन्मदिवस शिक्षकों के नाम पर न्योछावर कर दिया। ऐसा करके उन्होंने कबीरदास की भांति शिक्षकों की महिमा मंडित की। यही कारण है कि संपूर्ण भारत में 5 सितंबर को ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।

भारत में शिक्षक दिवस मनाने की शुरुआत कब से हुई ?

यूनेस्को (UNESCO) ने 5 अक्टूबर को ‘अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस’ घोषित किया था I इसी साल 1994 से ही शिक्षक दिवस भारत सहित 200 से ज्यादा देशों में मनाया जा रहा हैI

यह भी पढ़ें :-

मै आशा करती हूँ कि  शिक्षक दिवस पर लिखा यह निबंध ( शिक्षक दिवस पर  600 शब्दों में  निबंध,भाषण । 600 Words Essay speech on Teacher’s Day in Hindi) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा (Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.