X

खेलों का महत्व पर 600 शब्दों में निबंध, भाषण । 600 Words Essay speech on Importance of Games in Hindi

खेलों का महत्व पर 600 शब्दों में निबंध, भाषण – 600 Words Essay speech on Importance of Games in Hindi

खेलों का महत्व से जुड़े छोटे निबंध जैसे खेलों का महत्व पर  600 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  600 Words Essay speech on Importance of Games in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

600 Words Essay Speech on Importance of Games in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

प्राचीन ग्रंथों में उल्लेख है, “शरीमाद्यं खलु धर्म साधनम् अर्थात धर्म की साधना करने का प्रमुख माध्यम स्वस्थ एवं नीरोग शरीर है।” प्रकृति ने मानव शरीर के रूप में एक अमूल्य रचना हमें प्रदान की है।

विज्ञान अपनी असंख्य आश्चर्यजनक उपलब्धियों के बावजूद मानव शरीर रूपी यंत्र की रचना नहीं कर सकता। इस मशीन को स्वस्थ एवं नोरोग बनाए रखना हमारा कर्तव्य है-अपने प्रति ही नहीं, समाज, देश और प्रकृति या उस परमात्मा के प्रति भी, जिसने यह धरोहर हमें सौंपी है।

इस शरीर को स्वस्थ, लचीला, चुस्त और फुर्तीला बनाए रखने में खेलों की उपयोगिता सर्वाधिक है। खेलों के द्वारा हमारे शरीर के विभिन्न अंगों का व्यायाम स्वतः हो जाता है। इससे हमारी समस्त मांसपेशियां सुदृढ़ हो जाती हैं। हममें रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है और हमारी इंद्रियां ठीक-ठीक काम करने लगती हैं। स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है। अतः यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि खेल मात्र हमारे शारीरिक स्वास्थ्य को ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य को भी विकसित करता है।

सीखने की प्रक्रिया में खेलों का महत्व असंदिग्ध है। पशु-पक्षी भी अपने बच्चों को खेल द्वारा शिक्षा देते हैं। बिल्ली, कुत्ते, खरगोश, शेर, कंगारू आदि अनेक जीव अपने बच्चों को भांति-भांति के खेलों द्वारा भावी जीवन के लिए तैयार करते हैं। मानव भी खेलों से जीना सीखता है। छोटा शिशु भी प्रारंभ से ही खेलने लगता है। यदि वह ऐसा नहीं करता, तो माता-पिता चिंतित हो उठते हैं। बच्चों का विकास खेलों के माध्यम से ही होता है। लड़कियां गुड़ियों के खेल से मातृत्व एवं गृहस्थी सीखती हैं। लड़के भाग-दौड़, तोड़-फोड़ एवं खेलों से भावी जीवन की विषम परिस्थितियों के लिए स्वयं को ढालते है।

खेलों से हमें आर्थिक लाभ भी होता है। पेशेवर खिलाड़ी विश्व भर में घूम-घूमकर खेलते हैं और करोड़ों रुपये कमाते हैं। अनेक खिलाड़ी विश्व भर में प्रसिद्ध होकर खेल प्रेमियों के चहेते बन जाते हैं।

खेलों का महत्व स्वीकार करते हुए स्वामी विवेकानंद ने कहा था, “मेरे नवयुवक मित्रो, बलवान बनो। तुमको मेरी यही सलाह है। ‘गीता’ के अभ्यास की अपेक्षा फुटबॉल खेल के द्वारा तुम स्वर्ग के अधिक निकट पहुंच जाओगे। कलाई और भुजाएं अधिक मजबूत होने पर तुम ‘गीता’ को अच्छी तरह समझ सकोगे। तुम श्रीकृष्ण की महान प्रतिभा और शक्ति को समझ सकोगे।”

अनेक पुस्तकों एवं ग्रंथों में भी खेलों के महत्व पर काफी प्रकाश डाला गया है। उनमें कहा गया है कि जो मनुष्य निरंतर किसी भी खेल से जुड़ा रहता है, वह सदैव स्वस्थ और नीरोग होता है। उसमें काफी चुस्ती-फुर्ती पाई जाती है। इसका कारण यह है कि खेलों द्वारा मनुष्य के सभी अवयवों और मांसपेशियों पर काफी अच्छा प्रभाव पड़ता है। ऐसे में रक्त संचरण सुचारु रूप से होने तथा मांसपेशियों में लचीलापन आने से शरीर के अनेक रोग-विकार हमेशा के लिए नष्ट हो जाते हैं। इसके अलावा भविष्य में कोई रोग नहीं पनपता।

600 Words Essay Speech on Importance of Games

खेलों का महत्व पर अनमोल वचन – Best Quotes on Importance of Games

-ब्राज़ील फुटबॉल खाता, सोता और पीता है। यह फुटबॉल जीता है।- पेले

– प्यार वो खेल है जिसमें खेलने वाले दोनों ही जीतते है।

– चैंपियंस ऐसी चीज़ से बने हैं जो उनके अंदर गहरी है। एक इच्छा, एक सपना, एक दृष्टि। – मुहम्मद अली

– विश्वास कोई तोड़ने की चीज नहीं है, तोड़ना ही है तो खेल में किसी का रिकॉर्ड तोड़ो। – ध्यानचंद

– खेल एकता, सामाजिकता, देश प्रेम और अनुशासन की भावना पैदा करता है।

– हालाँकि हर खेलने वाला व्यक्तिगत होता है पर एक टीम अच्छे – अच्छों को हरा सकती है।

– खेल को इस तरह खेलो की हारने के बाद भी तुम्हारी तारीफ की जाए।

– खेल में हार जीत होना लगा रहता है। इसे दिल पर लगा कर मत बैठ जाओ। कभी कभी अच्छे से अच्छा खिलाड़ी भी पर आउट हो जाता है। 600 Words Essay speech on Importance of Games

– तुम किसी खेल में तभी जीत सकते हो जब तुम्हें मालूम हों यह तुम्हारे लिए कितना जरूरी है।

– खेलने की कोई उम्र नहीं होती। शारारिक खेल एक व्यायाम है जो तन के साथ साथ मन को भी स्वस्थ्य रखता है।

– उम्र कोई रूकावट नहीं है। यह हो नियंत्रण है जो आप अपने दिमाग को देते हैं।

– अदृश्यता को वही देख सकते हैं जो इम्पॉसिबल को पॉसिबल कर सकें।

– मैं उस खिलाडी से नहीं डरूँगा जिसने कलाएं सीख ली हैं, बल्कि उस खिलाडी से डरूंगा जो एक ही कला की बार प्रैक्टिस करता है। 600 Words Essay speech on Importance of Games

– हर हार से सीखना जीतने का सबसे बड़ा कारण है।

– बस खेलो, मजे करो, खेलने का आनंद लो। – माइकल जॉर्डन

– खेल को जीतना ही नहीं बल्कि जीतने की चाह रखना ही सब कुछ है।

– जीतने वाले कभी हौसला नहीं हारते और हौसला हारने वाले कभी नहीं जीतते। – विंस लोम्बार्डी

– जब आप अपनी हार से सीखते हैं तब आप जीतते हैं तब आप सीखते हैं कि आगे कैसे बढ़ना है। – मोरगन वूटन

– खेल आज को बेहतर बनाता है और भविष्य का निर्माण करता है।600 Words Essay speech on Importance of Games

– जिंदगी की सबसे बड़ी जीत उन चीज़ों से ऊपर उठना है जिन्हें हम अभी बहुत ज्यादा महत्त्व देते हैं।

– क्या आप जानते हैं मेरे लिए खेल का महत्वपूर्ण हिस्सा क्या है ? वो है खेलने का मौका मिलना।

– लगातार प्रयास – शक्ति और ज्ञान के साथ साथ क्षमता को खोलने की चाभी है।

– असंभव और संभव के बीच का अंतर एक व्यक्ति के दृण संकल्प में निहित है। – टॉमी लसोरड़ा

– जीतना सबकुछ नहीं है, लेकिन जीतना है। – विंस लोम्बार्डी

– ऐसे लोग हो सकते हैं जिनके पास आपसे अधिक प्रतिभा है, लेकिन किसी के लिए आपके द्वारा कठिन परिश्रम करने का कोई बहाना नहीं है।600 Words Essay speech on Importance of Games

– चैंपियन तब तक खेलते हैं जब तक वह जीत नहीं जाते।

– प्रतिबद्धता के सम्बन्ध में केवल दो विकल्प हैं। आप या तो अंदर हैं या आप बाहर हैं। जीवन के बीच में ऐसा कुछ भी नहीं है।

-मैं वो योद्धा हूँ जो हारकर भी दोबारा जीतने के लिए तैयार है।

– जीतने वाले कुछ अलग नहीं करते बल्कि वह चीज़ों को कुछ अलग तरीके से करते हैं।

– खेल आत्मनियंत्रण सिखाता है।600 Words Essay speech on Importance of Games

– एक बेहतर खिलाड़ी बनने के लिए अभ्यास करते रहना चाहियें।

– मेरे लिए, एक शतक बनाने के बजाय यह ज्यादा महत्वपूर्ण है की एक अच्छी साझेदारी बनायीं जाय। एक बार जब आप अच्छी साझेदारी बना लेते हो तो तब आप शतक भी बना लोगे। – महेन्द्र सिंह धोनी

– अपनी परेशानियों की वजह दूसरों को मानने से आपकी परेशानियां कभी कम नहीं हो सकती हैं।

– अगर तुम्हें हारने से डर लगता है तो जीतने की इच्छा कभी मत करना।

– किसी खेल का महान खिलाड़ी भी दिन उस खेल को सीख रहा था।

– एक अच्छा खिलाड़ी खुद को प्रेरणा देता है, जबकि एक महान खिलाड़ी दूसरों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बनता है।

– आप एक खिलाडी बनने के लिए पैदा हुए थे। आप यहाँ होने के लिए थे।

– डर तो मुझे भी लगा फासला देखकर, पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर। खुद ब खुद मेरे नजदीक आती गई मेरी मंजिल मेरा हौसला देखकर।600 Words Essay speech on Importance of Games

– आप एक खिलाडी बनने के लिए पैदा हुए थे। आप यहाँ होने के लिए थे। यह क्षण तुम्हारा है।

– यदि आप तैयारी करने में फ़ैल हैं तो फ़ैल होने के लिए तैयार हो जाएँ।

– जब प्रतिभा कड़ी मेहनत नहीं करती है तो कड़ी मेहनत प्रतिभा को हरा देती है।

– जो कभी हिम्मत नहीं हारता उसे कभी नहीं हराया जा सकता है।

खेलों का महत्व पर अनमोल वचन – Best Quotes on Importance of Games

FAQ:-

खेल के महत्व क्या है?

खेल और स्पोर्ट्स हमारे लिए बहुत ही लाभदायक हैं क्योंकि वे हमें समयबद्धता, धैर्य, अनुशासन, समूह में कार्य करना और लगन सिखाते हैं। खेलना हमें, आत्मविश्वास के स्तर का निर्माण करना और सुधार करना सिखाता है। यदि हम खेल का नियमित अभ्यास करें, तो हम अधिक सक्रिय और स्वस्थ रह सकते हैं।

खेल के महत्व क्या है?

इस शरीर को स्वस्थ, लचीला, चुस्त और फुर्तीला बनाए रखने में खेलों की उपयोगिता सर्वाधिक है। खेलों के द्वारा हमारे शरीर के विभिन्न अंगों का व्यायाम स्वतः हो जाता है। इससे हमारी समस्त मांसपेशियां सुदृढ़ हो जाती हैं। हममें रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है और हमारी इंद्रियां ठीक-ठीक काम करने लगती हैं। स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है। अतः यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि खेल मात्र हमारे शारीरिक स्वास्थ्य को ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य को भी विकसित करता है।

विद्यार्थी के जीवन में खेलों का क्या महत्व है?

मानव भी खेलों से जीना सीखता है। छोटा शिशु भी प्रारंभ से ही खेलने लगता है। यदि वह ऐसा नहीं करता, तो माता-पिता चिंतित हो उठते हैं। बच्चों का विकास खेलों के माध्यम से ही होता है। लड़कियां गुड़ियों के खेल से मातृत्व एवं गृहस्थी सीखती हैं। लड़के भाग-दौड़, तोड़-फोड़ एवं खेलों से भावी जीवन की विषम परिस्थितियों के लिए स्वयं को ढालते है।

खेल कितने प्रकार के होते हैं?

बाहरी खेल तथा भीतरी खेल
मुक्त खेल तथा संरचनात्मक खेल
संवेदी-क्रियात्मक और प्रतीकात्मक खेल
ओजस्वी खेल एवं शान्त खेल
वैयक्क्तक खेल और सामूहिक खेल

भारत में खेल कितने प्रकार के होते हैं?

भारत में खेल प्राचीन काल से आधुनिक काल तक परिवर्तन की विभिन्न अवस्थाओं से गुजरे हैं। कबड्डी, शतरंज, खो-खो, कुश्ती, गिल्ली-डंडा, तीरंदाजी, गदा आदि परंपरागत खेलों के अलावा विभिन्न देशों के संपर्क में आने से भारत में क्रिकेट, जूडो, टेनिस, बैडमिंटन आदि खेलों का भी खूब प्रचलन हुआ है।

अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस कब मनाया जाता है?

संयुक्त राष्ट्र संघ ने 2014 में छह अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस घोषित किया और दुनिया के विभिन्न देशों ने इस दिन अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है I

यह भी पढ़ें :-

सचिन तेंदुलकर पर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण

एक फुटबॉल मैच का वर्णन पर 600 शब्दों में निबंध, भाषण

मेरा प्रिय खेल पर 600 शब्दों में निबंध, भाषण

मै आशा करती हूँ कि  खेलों का महत्व पर लिखा यह निबंध ( खेलों का महत्व पर  600 शब्दों में  निबंध,भाषण । 600 Words Essay speech on Importance of Games in Hindi) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा (Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.