X

सचिन तेंदुलकर पर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण । 600-700 Words Essay speech on Sachin Tendulkar in Hindi

सचिन तेंदुलकर पर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण । 600-700 Words Essay speech on Sachin Tendulkar in Hindi

सचिन तेंदुलकर से जुड़े छोटे निबंध जैसे सचिन तेंदुलकर पर  600-700 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  600-700 Words Essay speech on Sachin Tendulkar in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

600-700 Words Essay Speech on Sachin Tendulkar  in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

भारतीय क्रिकेट की शान तथा विश्व के नंबर एक बल्लेबाज का स्तवा रखने वाले मास्टर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने बहुत ही कम समय और उम्र में क्रिकेट में ऐसे रिकॉर्ड बना डाले हैं, जिन्हें तोड़ना आसान काम नहीं है। रन बनाने और नये कीर्तिमान बनाने की उनकी भूख अभी नहीं मिटी है। क्रिकेट इतिहास के पन्नों पर वे अपना नाम स्वर्णाक्षरों में दर्ज करा चुके हैं। सन 1989 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच में सचिन तेंदुलकर का कदम रखना सभी भारतीयों के मन-मस्तिष्क में आज भी विद्यमान है। बीते हुए समय में हमेशा भारतीयों की उम्मीदों की पतवार सचिन का बल्ला ही बना रहा है।

परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ 1989 में पहला मैच खेलने वाले सोलह वर्षीय सचिन तेंदुलकर ने महान लेग स्पिनर अब्दुल कादिर की गेंदों की जमकर धुनाई की और एक ही ओवर में चार चौके लगाते हुए 27 रन बनाकर सनसनी फैला दी थी। विश्व कप-2003 में ‘पाकिस्तान के रावलपिंडी एक्सप्रेस’ के नाम से पहचाने जाने वाले गेंदबाज शोएब अख्तर के पहले ही ओवर में उन्होंने 18 रन बनाए थे। अपना ही रिकॉर्ड तोड़ने और नये रिकॉर्ड बनाने की कहानी वे कई वर्षों से लिखते आ रहे हैं।

कई बार भारत की जीत और हार के बीच खड़े होने वाले सचिन तेंदुलकर ने जिस कौशल से दबावों का सामना किया है, उसने उन्हें कुंदन बना दिया है। उन्होंने साबित कर दिखाया कि प्रतिकूल परिस्थितियों में भी प्रतिभा के प्रसून प्रस्फुटित होते हैं। सचिन का बनाया रिकॉर्ड ही उनकी प्रतिभा की बानगी देने के लिए काफी है। सचिन ने अक्तूबर, 2010 तक 173 टेस्ट मैचों में 14,000 से अधिक रन बनाए हैं, जिनमें 58 अर्द्धशतक तथा 49 शतक शामिल हैं। इसमें इनका उच्चतम स्कोर 248 है।

एक दिवसीय क्रिकेट में सचिन 450 मैच खेल चुके हैं और अब तक कुल 17,000 से अधिक रन बना चुके हैं, जिनमें 100 अर्द्धशतक तथा 46 शतक भी शामिल हैं। उच्चतम स्कोर 200 है, जिसे क्रिकेट के इतिहास में कोई अन्य बल्लेबाज नहीं प्राप्त कर पाया है। सचिन तेंदुलकर जब क्रिकेटको कहेंगे, तो वे तब तक न जाने कितने रिकॉर्ड बना चुके होंगे। इनमें से कई तोड़ना आसान काम नहीं होगा। अभी तो यह क्रम जारी है।

युवाओं का आदर्श बने सचिन का कैरियर बेदाग और विवादों से परे है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट दशकों तक लगातार खेलना अपने आपमें उपलब्ध है। सचिन के खेल पर उम्र का प्रभाव नहीं दिखाई पड़ता। तभी तो 30,000 से अधिक रन बनाने के बाद भी वे तेजी से रन बनाते हैं और क्षेत्ररक्षण करते समय इनकी चपलता देखते ही बनती है।

स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर ने सचिन तेंदुलकर के बारे में टिप्पणी करते हुए कहा,

“मैं सचिन को धरती पर भेजा गया ईश्वर का एक चमत्कार मानती हूं। सचिन एक अभिन्न कृति हैं और मैं उनको नमस्कार करती हूं।”

लता मंगेशकर

इस टिप्पणी के उत्तर में सचिन तेंदुलकर ने कहा, “मुझे जब तेज खेलना होता है, तो मैं लता मंगेशकर का तेज गीत गुनगुनाने लगता हूं और धीमे खेलते समय दर्द भरा । “

इस पर लता मंगेशकर ने कहा, “जब मुझे रियाज के समय कोई लंबी तान छेड़नी होती है, तो मैं सचिन का छक्का याद कर लेती हूं।”

600-700 Words Essay speech on Sachin Tendulkar

सचिन तेंदुलकर के अनमोल वचन :Sachin Tendulkar Motivational Quotes in Hindi

# मैं एक खिलाडी हूँ राजनेता नहीं, मैं क्रिकेट छोड़कर पॉलिटिक्स में नहीं जा रहा.क्रिकेट मेरी life है और मैं हमेशा उसी के साथ रहूँगा
# विक्टिम्स केवल समस्याएं देखते हैं, लीडर्स समाधान सुझाते हैं।
# पूरे स्टेडियम में सचिन सचिन की गूंज मुझे और भी ज्यादा रोमांचित करता है
# बचपन से मै अपने पिता की तरह बनना चाहता था मेरे पिताजी जी कहते थे की जो भी बनना दिल से बनना, कभी भी शॉर्टकट का रास्ता नही चुनना


# मैं कभी भी बहुत दूर की नहीं सोचता, मैं एक वक्त पर एक ही चीज के बारे में सोचता हूँ
# हर रोज आप का बेस्ट दिन नही हो सकता है कभी 100 तो कभी जीरो पर भी आउट हो सकता हूँ
# क्रिकेट में पैसा बनाना मेरे लिए महत्वपूर्ण नही है बल्कि क्रिकेट में रन बनाना मेरे लिए कही ज्यादा महत्वपूर्ण है
# आपका हर दिन अच्छा नही हो सकता है लेकिन आप हर दिन को अच्छा बना सकते है
# जब कोई प्लेयर वापसी करता है तो वह हमेसा बड़ा करने को सोचता है
# मेरे लिए क्रिकेट खेलने जाना मन्दिर जाने के बराबर है


# लगातार काम करने की आदत मुझे अपनी माँ से मिला क्युकी वे हमेसा लगातार काम करती रहती हैलोग मुझसे मेरा कप्तानी तो छीन सकते है लेकिन मेरा क्रिकेट नही छीन सकते है
# क्रिकेट मेरी जिन्दगी का हिस्सा नही बल्कि मेरी जिन्दगी ही क्रिकेट है यदि सामाजिक कार्य अपने स्वार्थ के लिए किये जाते हो तो वह कार्य कुछ समय बाद समाप्त हो जाता है
# मै भगवान नही हूँ तभी तो क्रिकेट खेलता हु लेकिन मुझपर उपरवाले का आशीर्वाद हमेसा साथ रहा है तभी तो जो अब तक मिला है उसी का शुक्रगुजार हु क्रिकेट मेरा पहला प्यार है और मैं क्रिकेट में हार से बहुत नफ़रत करता हूँ


# आपका ‘I Can” आपके ‘I.Q.’ से ज्यादा महत्वपूर्ण है।
# एक बार जब मैं फील्ड में पहुँच जाता हूँ तो वो मेरे लिए एक अलग क्षेत्र होता है और मेरी जीतने की भूख हमेशा वहा होती है.
# आपके द्वारा किया गया एक छोटा सा कार्य भी सबसे महान इरादे से हमेशा बेहतर होता है।
# लोगो के प्यार ने मुझे इस मुकाम तक पहुचाया है
# मैं जब भी क्रिकेट खेल रहा होता हूँ तो मैं क्रिकेट के अलावा और कुछ नहीं सोचता
# अपने सपनों का पीछा करना बंद मत करो क्योंकि सपने सच होते हैं।
# मेरे पिता का कहना था की अगर मै एक बेहतर क्रिकेटर से बेहतर इन्सान बनू तो यह एक पिता के लिए ज्यादा ख़ुशी की बात होगी


# मैदान के अन्दर और बाहर हर किसी का खुद को पेश करने की शैली और तरीका अलग-अलग होता है
# लोग आप पर पत्थर फेंके तब आप उन्हें मील के पत्थर में बदल दें।
# उसे दीजिए जिसे आप सबसे अधिक वापस पाना चाहते हैं।
# वर्ल्ड कप का गेम एकदम अलग होता है और यहा परफॉर्म करने का अपना अलग ही महत्व होता है

# मैने कभी भी खुद को किसी भी लक्ष्य के लिए मजबूर नहीं किया और न ही कभी अपनी तुलना किसी और से की।


# बड़े लोग वही हैं जो लोगों को छोटा महसूस नहीं कराते।
# अगर आप भारतीय टीम की प्रतिनिधित्व करते है तो किसी भी गलत निर्णय के लिए आपको दोषी ठहराना उचित है
# गलती तब गलती है जब आप उसे दोहराते हैं।
# केवल भारी सफलता कोई मायने नहीं रखती जब तक कि आप अपने अंदर से भी सफल ना हो।
# मै जब भी क्रिकेट खेलता हु तो मेरा ध्यान सिर्फ और सिर्फ क्रिकेट पर ही होता है
# अपने रास्ते पर खो जाना उसे पाने का हिस्सा है जिसपे आपको होना चाहिए।
# हर कोई गलती करता है और भी गलती करता हु तभी तो आउट होता हूँ


# यदि आप विनम्र बने रहते हैं, तो लोग खेल में सन्यास लेने के बाद भी आपको प्यार और सम्मान देंगे। मैं लोगों को यह कहते हुए खुशी से सुनूंगा कि “सचिन एक अच्छे इंसान हैं” “सचिन एक महान क्रिकेटर” हैं।
# मैं क्रिकेट को बड़ी आसानी से लेता हूँ,गेद पर नजर बनाये रखो और उसे अपनी पूरी योग्यता से खेलो
# मेरा कोई लक्ष्य नही था मेरा तो सारा ध्यान सिर्फ क्रिकेट खेलने पर था
# हर किसी के रोल मॉडल होते है और मेरे रोल मॉडल की बात की जाय तो मेरे दो रोल मॉडल है पहला सुनील गावस्कर और दुसरे विवियन रिचर्ड्स


# आलोचकों को मेरे शरीर और दिमाग के बारे में कुछ भी पता नहीं उन्होंने मुझे मेरा क्रिकेट खेलना नहीं सिखाया है।
# जब मै क्रिकेट खेलता हु तो यह कभी नही सोचता की यह मैच कम महत्वपूर्ण है या ज्यादा, मेरा काम हमेसा रन बनाना होता है
# आपकी असली शक्ति सादगी में है न कि बनावटीपन में।
# मैंने कभी भी खुद को किसी भी लक्ष्य के लिए मजबूर नहीं किया और न ही कभी अपनी तुलना किसी और से करीI


# हर किसी के जीवन में निराशा के क्षण जरुर आते है लेकिन निराशा के बाद भी खड़े रहना और उससे लड़ते रहना बहुत जरुरी है।
# पाकिस्तान को हराना हमेशा से स्पेशल रहा है क्योंकि पाकिस्तानी टीम एक मुश्किल टीम रही हैं और पाकिस्तान का इतिहास सब कुछ स्पष्ट बता देता है
# मै रिकॉर्ड के लिए नही खेलता हु बल्कि जीतने के लिए खेलता हु रिकॉर्ड तो अपने आप बनते चले जाते है
# कभी-कभी सफलता सही निर्णय लेने के बारे में नहीं होती, यह बस कोई निर्णय लेने के बारे में होती है।
# हर खिलाडी जीत के लिए अपना पूरा योगदान देते है जिस कारण जीत हमेशा महान मिलती है# आप जितना ज्यादा सफल होते जाते हैं आपको उतना ही विनम्र और समर्पित होना चाहिए।आरंभ में सभी महान विचारों का उपहास किया जाता है और अंत में उन्हें पूजा जाता है।
# जो चीज़े आपको पर्वत के शिखर पर ले जाती हैं, जिस क्षण आप उन चीज़ों को करना छोड़ देते हैं, आप घाटी में गिरना शुरू हो जाते हैं।

सचिन तेंदुलकर के अनमोल वचन :Sachin Tendulkar Motivational Quotes in Hindi

FAQ

सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न कब मिला था?

4 फ़रवरी 2014 को प्रणव मुखर्जी द्वारा सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न दिया गया था I

सचिन 99 पर कितनी बार आउट हुए?

सचिन अपने करियर में कुल 28 बार नर्वस 90 का शिकार हुए हैI

सचिन ने भारत के लिए कितने साल खेले?

लगभग 24 वर्षों तक

सचिन तेंदुलकर का जन्म कब हुआ था I

24 अप्रैल, 1973 को सचिन तेंदुलकर का जन्म मुंबई के एक राजापुर सारस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ थाI

सचिन तेंदुलकर के कितने बच्चे हैं?

सचिन तेंदुलकर के 2बच्चे हैं- अर्जुन तेंदुलकर और सारा तेंदुलकर I

सचिन तेंदुलकर कितने तक पढ़े हैं?

सचिन तेंदुलकर सिर्फ इंटर तक पढ़े हैंI

सचिन तेंदुलकर कितने मैच खेले हैं?

सचिन तेंदुलकर कुल463 मैच खेले हैं , जो एक विश्व रिकॉर्ड हैI

सचिन का नंबर क्या है?

सचिन का नंबर 10 है I सचिन 10 के अलावा 33 और 99 नंबर की भी जर्सी पहनकर मैदान पर आते थे।

सचिन ने संन्यास कब लिया?

सचिन ने संन्यास 16 नवम्बर 2013 में लियाI

सचिन तेंदुलकर की पत्नी का क्या नाम है ?

सचिन तेंदुलकर की पत्नी का नाम अंजली है, वे पेशे से डॉक्टर हैं I

यह भी पढ़ें :-

डॉ. हरिवंश राय बच्चन पर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण

गोस्वामी तुलसीदासपर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण

डॉ. होमी जहांगीर भाभा पर  600-700 शब्दों में  निबंध, भाषण

मै आशा करती हूँ कि  सचिन तेंदुलकर पर लिखा यह निबंध ( सचिन तेंदुलकर पर  600-700 शब्दों में  निबंध,भाषण । 600-700 Words Essay speech on Sachin Tendulkar in Hindi) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा (Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.