X

भारत का राष्ट्रीय ध्वज पर  300 शब्दों में  निबंध, भाषण । 300 Words Essay speech on National Flag of India in Hindi

भारत का राष्ट्रीय ध्वज पर  300 शब्दों में  निबंध, भाषण – 300 Words Essay speech on National Flag of India in Hindi

भारत का राष्ट्रीय ध्वज से जुड़े छोटे निबंध जैसे भारत का राष्ट्रीय ध्वज पर  300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  300 Words Essay speech on National Flag of India in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

300 Words Essay, speech on National Flag of India in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

राष्ट्रीय ध्वज किसी राष्ट्र की स्वतंत्रता का परिचायक है। प्रत्येक स्वतंत्र राष्ट्र का अपना एक ध्वज होता है, जिसे ‘राष्ट्रीय ध्वज’ कहा जाता है। भारत 15 अगस्त, 1947 को स्वतंत्र हुआ और 22 जुलाई, 1947 को संविधान सभा द्वारा तिरंगे को स्वतंत्र भारत के ‘राष्ट्रीय ध्वज’ के रूप में स्वीकार किया गया।

हमारे राष्ट्रीय ध्वज में तीन रंग हैं। सबसे ऊपर केसरिया रंग है, जो बल और शौर्य का प्रतीक है। यह हमें उन शहीदों की याद दिलाता है, जिन्होंने सहर्ष स्वतंत्रता की वेदी पर अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे। मध्य भाग में सफेद रंग है, जो सादगी, सच्चाई और शांति का द्योतक है। इसमें सबसे नीचे हरा रंग है, जो धरती की हरियाली व्यक्त करता है।

तिरंगे के बीच में सफेद रंग की पट्टी के मध्य नीले रंग का चक्र है, जो सम्राट अशोक की याद दिलाता है। यह अशोक की महानता और हमारी प्रगति का प्रतीक है। इस चक्र में 24 तीलियां हैं। हर दो तीलियों के बीच एक त्रिकोण चिह्न है। यह चक्र सदा गतिशील रहने का संदेश देता है। ध्वज की लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 3:2 है।

राष्ट्रीय पर्व- गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर यह ध्वज फहराया जाता है। ध्वज को फहराते समय सलामी दी जाती है। सलामी के तुरंत बाद राष्ट्रीय गान गाया जाता है। इसके अलावा कुछ महत्वपूर्ण सरकारी भवनों तथा भारतीय दूतावासों पर यह प्रतिदिन फहराया जाता है। सर्वोच्च न्यायालय ने अपने एक फैसले में आम नागरिकों को भी नित्य सम्मान के साथ यह ध्वज फहराने की अनुमति दे दी है। इससे रात्रि के समय भी ध्वज को फहराया जा सकेगा। देश में शोक प्रकट करने के लिए ध्वज को आधा झुकाकर फहराया जाता है।

राष्ट्रीय ध्वज हमारी स्वतंत्रता का द्योतक है। अतः इसका सम्मान करना प्रत्येक नागरिक का परम कर्तव्य है। इसका अनादर राष्ट्र का अनादर है। हमें यह याद रखना चाहिए कि हमारा राष्ट्रीय ध्वज रंगीन कपड़े का टुकड़ा नहीं, बल्कि राष्ट्रीय सम्मान का प्रतीक है। राष्ट्रीय ध्वज हमारी शान का द्योतक है।

300 Words Essay speech on National Flag of India

FAQ

तिरंगा सबसे पहले कब फहराया गया?

पहला राष्‍ट्रीय ध्‍वज 7 अगस्‍त 1906 को पारसी बागान चौक (ग्रीन पार्क) कलकत्ता में फहराया गया था. जिसे अब कोलकाता कहते हैंI

राष्ट्रीय ध्वज फहराने वाला पहला भारतीय कौन था?

मैडम भीकाजी कामा ने भारत का पहला झंडा फहरायाI

तिरंगा झंडा कब और किसने बनाया?

पिंगली वेंकैया ने साल 1916 से 1921 तक करीब 30 देशों के राष्ट्रीय ध्वज का अध्ययन किया, जिसके बाद उन्होंने तिरंगे को डिजाइन किया था।

राष्ट्रीय ध्वज समिति के अध्यक्ष कौन थे?

राजेन्द्र प्रसाद संविधान सभा की झंडा समिति तदर्थ समिति के अध्यक्ष थेI

राष्ट्रीय ध्वज के तीन रंग क्या दर्शाते हैं?

भारत के राष्‍ट्रीय ध्‍वज की ऊपरी पट्टी में केसरिया रंग है जो देश की शक्ति और साहस को दर्शाता है. बीच में स्थित सफेद पट्टी धर्म चक्र के साथ शांति और सत्‍य का प्रतीक है. निचली हरी पट्टी उर्वरता, वृद्धि और भूमि की पवित्रता को दर्शाती हैI

लाल किले पर सबसे पहले झंडा कौन फहराया था?

15 अगस्त, 1947 को लालकिले पर पहली बार तिरंगा फहराया गया था। प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने लालकिले से तिरंगा फहराया था।

तिरंगे के बीच में अशोक चक्र क्यों है?

अशोक चक्र धर्मचक्र का प्रतीक है।

अशोक चक्र किसका प्रतीक है?

अशोक चक्र धर्मचक्र का प्रतीक है।

अशोक चक्र में कितनी तीलियाँ होती हैं?

24

यह भी पढ़ें :-

स्कूल का आखिरी दिन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध, भाषण

व्यायाम का महत्व पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध, भाषण

समाचार-पत्र पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध, भाषण

भारत का राष्ट्रीय चिह्न पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध, भाषण

मै आशा करती हूँ कि  भारत का राष्ट्रीय ध्वज पर लिखा यह निबंध ( भारत का राष्ट्रीय ध्वज पर  300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 300 Words Essay speech on National Flag of India in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड हैI

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.