X

विश्वकर्मा की पूजा पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Vishwakarma Pooja in Hindi

विश्वकर्मा की पूजा पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Vishwakarma Pooja in Hindi

विश्वकर्मा की पूजा से जुड़े छोटे निबंध जैसे विश्वकर्मा की पूजापर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Vishwakarma Pooja in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Vishwakarma Pooja in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

हिंदू धर्म ग्रंथों में कहा गया है कि एक ईश्वर के अलग-अलग कार्यों को करने के कारण मुख्य रूप से तीन नाम हैं। वह जब सृष्टि को उत्पन्न करता है, तो उसे ब्रह्मा’ कहते हैं, पालन करता है तो ‘विष्णु’ और जब इसका संहार करता है, तो रुद्र इस नाम से उसे पुकारा जाता है।

ब्रह्मा ज्ञान के देवता हैं। इस ज्ञान के दो भेद हैं भौतिक और आध्यात्मिक समस्त शिल्प और वास्तु के स्वामी ब्रह्मा जी की संतति है विश्वकर्मा, इसीलिए इनका रूप-स्वरूप ब्रह्मा जी की ही तरह है। लोक परंपरा के अनुसार, मूर्तिकार और भवन निर्माण करने वाले (राज मिस्त्री) के पूजन का विधान मानो इसी ओर संकेत करता है। मान्यता है कि स्वर्ण पुरी लंका का निर्माण विश्वकर्मा ने ही किया था।

इनका संबंध महर्षि अंगिरा से भी बताया जाता है। देश में कई बार, अपनी-अपनी परंपरा के अनुसार, विश्वकर्मा की पूजा की जाती है। दीपावली के अगले दिन गोवर्धन पूजन के दिन, विशेष रूप से औजारों की पूजा को जाती है। रूसी क्रांति के रूप में मई को जहां श्रम दिवस’ के रूप में मान्यता प्राप्त है, वहीं 5 मई को क्योंकि महर्षि अंगिरा जयंती होती है इसलिए इस दिन विश्वकर्मा का विशेष रूप से पूजन किया जाता है।

विश्वकर्मा को एक पद के रूप में भी मान्यता प्राप्त है। बिलकुल उसी तरह जैसे ‘व्यास’ एक पद है, जिस पर प्रतिष्ठित होने वाले कई आचार्यों के नामों का उल्लेख पुराणों में किया गया है।

हिंदू धर्म ग्रंथों में अस्त्र-शस्त्रों को जड़ नहीं माना जाता, इसीलिए विजया दशमी को क्षत्रिय शस्त्र पूजा करते हैं और विश्वकर्मा पूजन महोत्सव पर औजारों की पूजा की जाती है। जिन शस्त्र और औजारों द्वारा हम अपना कर्तव्य बखूबी निभाते हैं, उनका सम्मान तो किया ही जाना चाहिए।

इन परंपराओं के मूलस्रोत को जानने के बाद यह भी निश्चित हो जाता है। कि भारतीय चिंतन में कार्य व्यवस्था की दृष्टि से भले ही भेद प्रतीत होता हो, लेकिन असल में कोई न तो छोटा है. न ही बड़ा

यह भी पढ़ें :-

नारी का सम्मान  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Respect for Women in Hindi
वृक्ष- हमारे संरक्षक  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Tree Our Protector in Hindi
सफल जीवन की सच्ची सीख पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life in Hindi
जीवन का सत्य पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Truth of Life in Hindi

200-300 Words Essay speech on Vishwakarma Pooja in English

200-300 Words Essay speech on Vishwakarma Pooja

Hindu scriptures state that there are mainly three names because of the different functions of one God. When he creates the universe, he is called ‘Brahma’, when he maintains it ‘Vishnu’ and when he destroys it, he is called by this name Rudra.

Brahma is the god of knowledge. There are two distinctions of this knowledge, material and spiritual, Vishwakarma is the child of Brahma ji, the master of all crafts and Vastu, that is why his form is like Brahma ji. According to the folk tradition, the law of worship of the sculptor and the builder of the building (Mason) as if points towards this. It is believed that Vishwakarma had built Swarna Puri Lanka.

He is also said to be related to Maharishi Angira. Vishwakarma is worshiped many times in the country, according to their own tradition. The day after Deepawali is the day of Govardhan Puja, especially the worship of tools. While May is recognized as ‘Labor Day’ as the Russian Revolution, on May 5, because Maharishi Angira Jayanti is celebrated, Vishwakarma is specially worshiped on this day.

Vishwakarma is also recognized as a post. Just like ‘Vyas’ is a verse on which the names of many Acharyas to be revered is mentioned in the Puranas.

In Hindu scriptures, weapons are not considered inert, that is why Kshatriyas worship weapons on Vijaya Dashami, and tools are worshiped on Vishwakarma Puja Festival. Weapons and tools by which we perform our duty well must be respected.

After knowing the origin of these traditions, it also becomes certain. Even though there may seem to be a difference from the point of view of the work system in Indian thought, but in reality no one is small. nor big


मै आशा करती हूँ कि  विश्वकर्मा की पूजा पर लिखा यह निबंध ( विश्वकर्मा की पूजा  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Vishwakarma Pooja in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.