X

भारत की एकता  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Unity of India in Hindi

भारत की एकता  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Unity of India in Hindi

भारत की एकता से जुड़े छोटे निबंध जैसे भारत की एकता पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Unity of India in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Unity of India in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

भारत एक विशाल देश है। इसमें अनेक धर्मानुयायी, विभिन्न जातियां और विभिन्न भाषा-भाषी लोग रहते हैं। यहां हमेशा से वेशभूषा, खान-पान और बोलचाल की दृष्टि से अनेकता के बीच एकता की भावना निहित रही है। यह यहां की सामाजिक संस्कृति की विशेषता है इतिहास इस बात का साक्षी है। एकता की इसी अनुभूति ने भी हमारे सामाजिक और राजनैतिक जीवन के निर्माण में बहुत मदद की है।

हमारे देश में प्रत्येक धर्म एवं मजहब को मानने की पूरी स्वतंत्रता है, किंतु इसका अनुचित लाभ नहीं उठाया जाना चाहिए अर्थात् धर्म और मजहब से देश की सुरक्षा को श्रेष्ठ माना जाना चाहिए। क्योंकि यदि देश की स्वतंत्रता ही खतरे में पड़ जाएगी तो हम और हमारा धर्म कहीं के भी नहीं रहेंगे। हमें उन बातों को प्रोत्साहित करना है, जिनसे एकता की भावना मजबूत होती हो। इस प्रकार देश के विकास के लिए भावनात्मकता एकता अत्यंत आवश्यक है।

भारत के राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त ने कितना सही कहा है

‘वह हृदय नहीं है पत्थर है जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं।’

मैथिली शरण गुप्त

यह भी कहा जाता है कि माता और मातृभूमि के ऋण से मनुष्य मृत्यु तक मुक्त नहीं हो पाता, श्रीराम ने अपनी जन्मभूमि को स्वर्ग से भी श्रेष्ठ माना है। मातृभूमि के मान रक्षा के लिए स्वयं को समर्पित करने में जो आनंद प्राप्त होता है, देशहित के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने में जो सुख-शांति मिलती है, उसका मूल्य कोई सच्चा देश भक्त ही जान सकता है।

देश सेवा और परोपकार ही देशभक्त का धर्म होता है। देशवासियों के सुख-दुख में ही उसका सुख-दुख निहित होता है। उसकी अंतरात्मा स्वार्थरहित होती है। वह सदैव देश को जोड़ने का प्रयास करता है।

देश की सर्वागीण उन्नति के लिए हम सभी चाहिए। इसी में हम सबका सुख निहित है।

यह भी पढ़ें

राष्ट्र गीत वंदे मातरम् पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on National Song Vande Mataram of India in Hindi
राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on National Unity and Integrity in Hindi
हमारा देश – भारत पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Our Country India in Hindi
बाघ- भारत का राष्ट्रीय पशु  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Tiger National Animal of India in Hindi

200-300 Words Essay speech on Unity of India in English

200-300 Words Essay speech on Unity of India

India is a vast country. There are many religious people, different castes, and people speaking different languages. There has always been a sense of unity among diversity in terms of dress, food, and colloquialism. This is the specialty of the social culture here, history is a witness to this. This feeling of unity has also helped a lot in the formation of our social and political life.

There is complete freedom to follow every religion and religion in our country, but it should not be taken undue advantage of, that is, the security of the country from religion and religion should be considered superior. Because the independence of the country will be in danger, then we and our religion will not be anywhere. We have to encourage those things, which strengthen the sense of unity. Thus emotional unity is very necessary for the development of the country.

India’s national poet Maithili Sharan Gupta has so rightly said

भारत के राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त ने कितना सही कहा है ‘वह हृदय नहीं है पत्थर है जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं।’

Maithili Sharan Gupta

‘He is not a heart but a stone in which there is no love for the country’.

It is also said that man cannot be freed from the debt of mother and motherland till death, Shri Ram has considered his birthplace to be better than heaven. Only a true patriot can know the value of happiness and peace that one gets in dedicating himself to protect the honor of the motherland, the happiness, and peace that comes in sacrificing everything for the sake of the country.

Service to the country and charity is the religion of a patriot. His happiness and sorrow lie in the happiness and sorrow of the countrymen. His conscience is selfless. He always tries to unite the country.

All of us are needed for the all-around progress of the country. In this lies the happiness of all of us.


मै आशा करती हूँ कि  भारत की एकता पर लिखा यह निबंध ( भारत की एकता   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Unity of India in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.