X

सफल जीवन की सच्ची सीख पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life in Hindi

200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life

सफल जीवन की सच्ची सीख पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life in Hindi

सफल जीवन की सच्ची सीखसे जुड़े छोटे निबंध जैसे सफल जीवन की सच्ची सीखपर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on True Lessons of Successful Life in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

शिक्षा का उद्देश्य केवल अक्षर ज्ञान नहीं है। शिक्षा का अर्थ यह भी नहीं है कि विद्यार्थी किसी विशेष क्षेत्र से संबंधित जानकारी को हासिल कर ले फिर किसी एक कला या तकनीक में माहिर हो जाए. यह तो मनुष्य को मनुष्य के रूप में समझने की योग्यता देती है।

तकनीक के मामले में पशु-पक्षी हम मनुष्यों से ज्यादा बेहतर हैं। बया अपना खूबसूरत घोंसला बनाती है। इसे सोखने के लिए यह किसी इंस्टीट्यूट में नहीं गई। कठफोड़वा को कभी छेद करते हुए देखिएगा, किसी वृक्ष के तने या शाखा पर आपको अंदाजा लग जाएगा कि उसके काम में कितना परफेक्शन है। कहां से ली उसने इतना परफेक्ट काम करने की ट्रेनिंग। प्रकृति में आपको एक नहीं, ऐसे कई उदाहरण मिल जाएंगे, जो इस तथ्य की पुष्टि करते हैं कि मनुष्य इस दृष्टि से प्रकृति के अन्य प्राणियों से बहुत पिछड़ा हुआ है।

मनुष्य की विशेषता इस संदर्भ में यही है कि वह बुद्धिमान है और उसमें क्षमता है कि वह किसी भी दिशा में अपने व्यक्तित्व का विकास कर सकें। ‘मनन’ करने के कारण ही धर्मग्रंथों ने इसे मनुष्य कहा है। इस प्रकार सफल जीवन का अर्थ है मनन-चिंतन के द्वारा अपने लक्ष्य को पहचानना लक्ष्य स्पष्ट हुए बिना सफलता या असफलता का निर्णय भला कैसे किया जा सकता है। जिसमें संवेदना नहीं है, वह भला मनुष्य कैसे हो सकता है।

कहते हैं एक बार मां ने अपने छोटे बेटे को नीम की छाल लाने को भेजा। छात निकालने के लिए जब उसने पेड़ के तने पर कुल्हाड़ी का वार किया, तो वह उछलकर उसके पैर पर आ लगी। उसके पैर की खाल छिल गई। खून बहने लगा। बच्चे ने सोचा. क्या ऐसी ही पीड़ा वृक्ष को भी नहीं हुई होगी। वह खाली हाथ घर वापस आ गया। उसने मां को सारा किस्सा बताया। मां ने बेटे को गले से लगा लिया। यह घटना संत ज्ञानेश्वर के बचपन की है, जिसने अपने क्षेत्र में सफलता की ऊंचाइयों को छुआ और जीवन का एक आदर्श प्रस्तुत किया।

यह भी पढ़ें :-

मेरे जीवन का उद्देश्य  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Purpose of My Life in Hindi
रक्षाबंधन  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in Hindi
नारी का सम्मान  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Respect for Women in Hindi
वृक्ष- हमारे संरक्षक  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Tree Our Protector in Hindi

200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life in English

200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life

The aim of education is not only letter knowledge. Education also does not mean that the student acquires information related to a particular field and then becomes an expert in any one art or technique. It gives the ability to understand man as a human being.

Animals and birds are better than us humans in terms of technology. Baya builds her beautiful nest. It did not go to any institute to absorb it. If you ever see a woodpecker pierce, on the trunk or branch of a tree, you will get an idea of ​​how much perfection is in its work. Where did he get the training to do such a perfect job? In nature, you will find not one, but many such examples, which confirm the fact that man is far behind other creatures of nature in this respect.

The specialty of a man in this context is that he is intelligent and has the ability to develop his personality in any direction. The scriptures have called it a human because of ‘meditating’. Thus successful life means recognizing one’s goal through contemplation. How can he be a good human being who does not have compassion?

It is said that once a mother sent her younger son to get neem bark. When he hit the ax on the trunk of the tree to remove the roof, it jumped up and came on his feet. His feet peeled off. Blood started flowing. The child thought. Wouldn’t the tree also have suffered the same pain? He returned home empty-handed. He told the whole story to his mother. The mother hugged the son. This incident is from the childhood of Saint Dnyaneshwar, who touched the heights of success in his field and presented an ideal of life.


मै आशा करती हूँ कि  सफल जीवन की सच्ची सीखपर लिखा यह निबंध ( सफल जीवन की सच्ची सीख  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on True Lessons of Successful Life in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.