X

नारी का सम्मान  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Respect for Women in Hindi

नारी का सम्मान  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Respect for Women in Hindi

नारी का सम्मान से जुड़े छोटे निबंध जैसे नारी का सम्मान पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Respect for Women in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Respect for Women in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

जहाँ नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं। प्रसिद्ध स्मृति का कहना है- ‘मत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता। इसे ‘अबला कहना गर्भ में पलते कन्या भ्रूण की हत्या कर देवा चौका-पानी तक ही इसकी क्षमता को सीमित करके आंकना, इसका अपमान नहीं तो और क्या है। आज भी इसे ‘भोग की वस्तु’ समझकर प्रत्येक बसेका व्यक्ति अपने तरीके’ से इसका इस्तेमाल’ कर रहा है। बढ़ते काही कारण है।

नारी का सबसे पवित्र रूप ‘माँ’ है माता यानी जननी मां को ईश्वर से भी माना गया है, क्योंकि ईश्वर की जन्मदात्री भी नारी ही रही है। मां देव श्रीकृष्ण को तथा मां पार्वती गणपति और कार्तिकेय की माता थीं। राम से पहले सोता, कृष्ण से पहले राधा, विष्णु से पहले लक्ष्मी लिखना या बोलना स्त्री को गरिमा को ही तो बताता है।

किंतु बदलते समय ने मां के महत्व को भी मानो खो दिया है। यह चिंताजनक बात है। सब धन-लिप्सा व अपने स्वार्थ में डूबते जा रहे हैं। मेरी पत्नी और मेरे बच्चे यही आजकल परिवार की परिभाषा रह गई है। टूटते परिवारों के पीछे भी नारी का सम्मानित न होना ही कारण है। शिव के एक रूप में आधी स्त्री है। इसे ‘अर्धनारीश्वर’ शिव कहते हैं। नवरात्रि में शक्ति की पूज की जाती है, कन्याओं का पूजन होता है। शक्तिपीठों पर भक्तों की भीड़ देखने को मिलती है। अपने परिश्रम और बौद्धिक क्षमता से आधुनिक नारी आज जिस सम्मान को अर्जित कर रही है, उसका औसत अभी भी उतना नहीं है, जितना होना चाहिए। ऐसा लगता है कि ऐसा करना पुरुष प्रधान समाज की विवशता है.

नहीं तो इन पर अमानवीय घटनाओं में कमी आती। नारी को पूजने से कल्याण नहीं होगा, इनके सम्मान में ही मानवता का और कल्याण छिपा हुआ है।

यह भी पढ़ें :-

राजीव गांधी  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Rajeev Gandhi in Hindi
गणेश चतुर्थी गणेशोत्सव  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Ganesh Chaturthi Ganeshotsav in Hindi
मेरे जीवन का उद्देश्य  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Purpose of My Life in Hindi
रक्षाबंधन  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in Hindi

200-300 Words Essay speech on Respect for Women in English

200-300 Words Essay speech on Respect for Women

Where women are worshipped, the gods reside there. The famous smriti says- ‘Matra Naryastu Pujyante Ramante Tatra Devta. Calling it ‘Abla’ by killing a female fetus growing in the womb and limiting its capacity to the water level, what is if it is not an insult. Even today, considering it as an ‘object of enjoyment’, each settler is using it ‘in his own way’. There is no reason to grow.

The most sacred form of a woman is ‘Mother’, a mother, who is also considered as God because the mother of God has also been a woman. Mother was the mother of Lord Krishna and mother Parvati was the mother of Ganapati and Kartikeya. Sleeping before Rama, Radha before Krishna, Lakshmi before Vishnu, writing or speaking only tells the dignity of a woman.

But the changing times have lost the importance of mother as well. This is worrying. Everyone is drowning in the greed of money and their selfishness. My wife and my children have become the definition of the family these days. Women are not respected even behind broken families. One form of Shiva is half female. It is called ‘Ardhanarishvara’ Shiva. Shakti is worshiped in Navratri, girls are worshipped. There is a crowd of devotees at the Shaktipeeths. The respect that the modern woman is earning today with her hard work and intellectual ability is still not as high as it should be. It seems that doing so is a compulsion of a male-dominated society.

Otherwise, there would have been a reduction in inhuman incidents on them. Worshiping women will not bring welfare, in her honor lies hidden the welfare of humanity.


मै आशा करती हूँ कि  नारी का सम्मान पर लिखा यह निबंध ( नारी का सम्मान   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Respect for Women in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.