X

रक्षाबंधन  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in Hindi

200-300 Words Essay, speech on RakshaBandhan

रक्षाबंधन  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in Hindi

रक्षाबंधन से जुड़े छोटे निबंध जैसे रक्षाबंधन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on RakshaBandhan in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

रक्षाबंधन भाई-बहनों के बीच परस्पर प्रेम का एक महत्त्वपूर्ण त्योहार है। यूं तो भारत में भाई-बहनों के बीच प्रेम और कर्तव्य की भूमिका किसी एक दिन की मोहताज नहीं है. पर रक्षाबंधन के ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व को वजह से ही यह दिन इतना महत्त्वपूर्ण माना जाता है।

हिंदू श्रावण मास (जुलाई-अगस्त) की पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला यह त्योहार भाई के बहन के प्रति प्यार का प्रतीक है। रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर भाई की दाहिनी कलाई पर बहन राखी बांधती है, उसका तिलक करती है और उससे अपनी रक्षा का संकल्प लेती है। रक्षाबंधन की व्यापकता अब तो इससे भी कहीं ज्यादा हो गई है। अब राखी देश की रक्षा, पर्यावरण की रक्षा और मानव हितों की रक्षा आदि के लिए भी बांधी जाने लगी है। इस प्रकार इसका अर्थ है- रक्षा करने का संकल्प हिंदू पुराण कथाओं में रक्षाबंधन का वर्णन मिलता है वामनावतार नामक पौराणिक कथा में रक्षाबंधन का प्रसंग आया है।

कथा इस प्रकार है- राजा बलि ने यज्ञ संपन्न कर स्वर्ग पर अधिकार करने का प्रयत्न किया तो देवराज इंद्र ने भगवान विष्णु से प्रार्थना की कि वे उनकी रक्षा करें। विष्णुजी वामन बनकर राजा बलि से भिक्षा मांगने पहुंच गए। गुरु शुक्राचार्य के मना करने पर भी बलि ने तीन पग भूमि वामन को दान कर दी। वामन भगवान ने तीन पग में आकाश पाताल और धरती नाप कर राजा बलि को रसातल में भेज दिया। उसने अपनी भक्ति के बल पर विष्णुजी से हर समय अपने सामने उपस्थित रहने वचन ले लिया। लक्ष्मी जी इससे चिंतित हो गई। लक्ष्मी जी देवर्षि नारद को सलाह पर बॉल के पास गई और रक्षासूत्र बांधकर उसे अपना भाई बना लिया। बदले में वे विष्णुजी को अपने साथ ले आई। कहते हैं कि तब से ही यह पर्व मनाया जाता है।

हिंदू धर्म के अनुष्ठानों में पुरोहित (ब्राह्मण) जब अपने यजमान की कलाई पर कलावा बांधता है, तो वह बलि और लक्ष्मी की इस कथा का स्मरण करता है तथा सब निर्विघ्न हो, इसका विश्वास भी दिलाता है।

यह भी पढ़ें :-

सरदार भगतसिंह  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Sardar Bhagat Singh in Hindi
राजीव गांधी  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Rajeev Gandhi in Hindi
गणेश चतुर्थी गणेशोत्सव  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Ganesh Chaturthi Ganeshotsav in Hindi
मेरे जीवन का उद्देश्य  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Purpose of My Life in Hindi

200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in English

200-300 Words Essay, speech on RakshaBandhan

Rakshabandhan is an important festival of mutual love between brothers and sisters. By the way, the role of love and duty between brothers and sisters in India is not a fascination for any one day. But due to the historical and religious importance of Rakshabandhan, this day is considered so important.

Celebrated on the full moon day of the Hindu Shravan month (July-August), this festival symbolizes the love of a brother towards his sister. On the auspicious occasion of Rakshabandhan, a sister ties Rakhi on the right wrist of the brother, tilaks it, and takes a pledge to protect her from him. The scope of Rakshabandhan has now become even more than this. Now Rakhi is also being tied to protect the country, protect the environment and protect human interests, etc. Thus it means- Resolve to protect Rakshabandhan is described in Hindu mythology, there is a context of Rakshabandhan in the mythological story called Vamanavatar.

The story of RakshaBandhan is as follows – King Bali tried to take possession of heaven by performing a Yagya, then Devraj Indra prayed to Lord Vishnu to protect him. Vishnu arrived as Vamana to ask for alms from King Bali. Despite Guru Shukracharya’s refusal, Bali donated three steps of land to Vamana. Lord Vamana measured the Sky, the Pataal, and the Earth in three steps and sent King Bali to the abyss. On the strength of his devotion, he took a promise from Vishnu to be present in front of him at all times. Lakshmi Ji got worried about this. Lakshmi ji went to the ball on the advice of Devarshi Narada and tied the Raksha sutra and made him her brother. In return, she brought Vishnu with her. It is said that since then this festival is celebrated.

In Hindu rituals, when a priest (Brahmin) ties a kalava on the wrist of his host, he remembers this story of Bali and Lakshmi and also assures that all is smooth.


मै आशा करती हूँ कि  रक्षाबंधन पर लिखा यह निबंध ( रक्षाबंधन   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on RakshaBandhan in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.