X

युवा पीढ़ी की ताकत  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in Hindi

युवा पीढ़ी की ताकत  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in Hindi

युवा पीढ़ी की ताकत से जुड़े छोटे निबंध जैसे युवा पीढ़ी की ताकत पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Power of Young Generation in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

हमारा देश आबादी की दृष्टि से विश्व में दूसरे स्थान पर है, लेकिन यदि युवा शक्ति की बात करें, तो यह विश्व में सबसे ज्यादा भारत के पास है अर्थात् चीन से भी ज्यादा युवा हैं यहां क्योंकि विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है भारत। इससे यह सुनिश्चित हो जाता है कि युवा भारतीय राजनीति को जिधर चाहें मोड़ दें। इस सत्य को भारत की राजनीतिक पार्टियां भलीभांति समझ पो रही हैं, तभी तो छात्र राजनीति में भी किसी एक विशेष छात्र संगठन को दो अपना समर्थन देती हैं।

अतीत इस बात का गवाह है कि युवा शक्ति की राजनीतिक समझ ने किसी भी देश को नई दिशा दी है इतना ही नहीं उसकी उन्नति और विकास में इसकी महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है। विश्व स्तर पर विभिन्न क्रांतियां हो या फिर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, सबमें युवा शक्ति ने पहल को है और फिर जरूरत पड़ने पर अपना बलिदान भो दिया है।

किसी विचारधारा को व्यावहारिक जामा पहनाने के लिए उसकी राजनीतिक स्वीकृति आवश्यक होती है। इस संदर्भ में ऐसे कई उदाहरण हैं, जिनसे इस तथ्य को पुष्टि होती है कि भले ही उनकी गति बहुत धीमी रही हो, लेकिन कानून बनने के बाद कुछ सामाजिक विकृतियों को समाप्त करने में काफी सहायता मिली है सती प्रथा का उन्मूलन, विधवा विवाह, जाति प्रथा के आधार पर सामाजिक भेदभाव में आई कमी नारी शिक्षा आदि इसके उदाहरण है।

क्या चाणक्य इस बात का प्रमाण नहीं है कि एक छात्र या शिक्षक को अध्ययन अध्यापन तक सीमित न रहते हुए अन्याय के विरोध में खड़े होना चाहिए और राष्ट्र की अस्मिता की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर देना चाहिए। राजनैतिक जागरण की व्यावहारिक शिक्षा यदि शिक्षा केंद्रों से मिले, तो तटस्थता की उस मनोवृत्ति से भी हम मुक्त हो सकते हैं, जिसके कारण समाज का एक बहुत बड़ा तबका इलेक्शन के महत्वपूर्ण दिनों में मतदान की परवाह न करता हुआ पिकनिक मनाने चला जाता है।

यह भी पढ़ें:

जवाहरलाल नेहरू  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Jawahar Lal Nehru in Hindi
मेरी यात्रा  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Journey in Hindi
मेरी दिनचर्या  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Routine in Hindi
हमारा विद्यालय  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on My School in Hindi

200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in English

200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation

Our country is in second place in the world in terms of population, but if we talk about youth power, then India has the highest number of people in the world, that is, more youth than China because India is the largest democratic country in the world. This ensures that the youth can turn Indian politics wherever they want. Political parties of India are understanding this truth very well, that is why even in student politics, two give their support to a particular student organization.

The past is a witness to the fact that the political understanding of youth power has given a new direction to any country, not only that it has played an important role in its progress and development. Be it various revolutions at the world level or Indian freedom struggle, youth power has taken the initiative and then sacrificed itself when needed.

For an ideology to be practical, its political approval is necessary. There are many such examples in this context, which confirm the fact that even though their pace has been very slow, but after the enactment of the law, it has helped a lot in eradicating some social evils, abolition of Sati system, widow marriage, caste The reduction in social discrimination on the basis of custom, women’s education, etc. is an example of this.

Isn’t Chanakya a proof, that a student or teacher should not be limited to teaching, stand against injustice, and should sacrifice everything to protect the pride of the nation? If practical education of political awakening is received from education centers, then we can also be freed from that attitude of neutrality, due to which a large section of the society goes for picnics without caring about voting on important days of elections.


मै आशा करती हूँ कि  युवा पीढ़ी की ताकत पर लिखा यह निबंध ( युवा पीढ़ी की ताकत   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.