X

प्रदूषण एक गंभीर समस्या  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Pollution a Serious Problem in Hindi

प्रदूषण एक गंभीर समस्या  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Pollution a Serious Problem in Hindi

प्रदूषण एक गंभीर समस्या से जुड़े छोटे निबंध जैसे प्रदूषण एक गंभीर समस्या पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Pollution a Serious Problem in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Pollution a Serious Problem in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

विज्ञान के इस युग में मानव को जहां कई वरदान मिले हैं, वहीं कुछ अभिशाप भी उसके हिस्से आए हैं। प्रदूषण एक ऐसा अभिशाप है, जो विज्ञान की कोख में से जन्मा है और जिसे सहने के लिए हम पूरी तरह से विवश हैं।

प्रदूषण का अर्थ है प्राकृतिक संतुलन में दोष पैदा होना, अर्थात् शुद्ध वायु मिलना, न शुद्ध जल मिलना, न शुद्ध खाद्य मिलना, न शांत वातावरण मिलना। इस प्रकार यह प्रदूषण कई प्रकार का होता है। प्रमुख प्रदूषण हैं वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण

महानगरों में वायु प्रदूषण अधिक फैला है। यहां चौबीसों घंटे कल-कारखानों तथा मोटर वाहनों से पैदा होने वाला धुआं इस तरह फैल गया है कि वायु में सांस लेना दूभर हो गया है। यहां की महिलाएं धुले हुए वस्त्र छत से उतारने जाती हैं, तो उन पर काले काले कण जमे हुए मिलते हैं। यही कण सांस के साथ मनुष्य के फेफड़ों में चले जाते हैं और असाध्य रोगों को जन्म देते हैं। यह समस्या वहां और अधिक होती है, जहां सघन आबादी है और वृक्षों का अभाव है। वृक्षों के पत्तों पर भी इसे खुली आंखों से देखा जा सकता है। चारे के रूप में पशु इसीलिए इन पत्तों को खाते नहीं हैं।

कल-कारखानों का दूषित जल नदी-नालों में मिलकर भयंकर जल प्रदूषण पैदा करता है। बाढ़ के समय तो कारखानों का दुर्गंधित जल सब नाली-नालों में घुल मिल जाता है। इससे अनेक बीमारियां पैदा होती हैं। इसकी मार से वो नदिया भी नहीं बची हैं, जिन्हें हम पवित्र मानते हैं और जिन्हें हम अपनी माता की तरह पूजते हैं। आजकल कल-कारखानों, यातायात, मोटर गाड़ियों की चिल्ल-पों, लाउड स्पीकरों की कर्णभेदक ध्वनि ने बहरेपन और तनाव को जनजीवन का अभिन्न अंग बना दिया है।

ध्यान रहे, प्रकृति में होने वाले इस असंतुलन के प्रति यदि हम सजग नहीं हुए तो प्रगति और विकास मानव समाज के लिए भारी नुकसान सिद्ध होगा।

यह भी पढ़ें :-

मेरी दिनचर्या  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Routine in Hindi
हमारा विद्यालय  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on My School in Hindi
युवा पीढ़ी की ताकत  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in Hindi
मेरे प्रिय अध्यापक  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher in Hindi

200-300 Words Essay speech on Pollution a Serious Problem in English

200-300 Words Essay speech on Pollution a Serious Problem

In this age of science, where man has got many boons, while some curses have also come to his share. Pollution is such a curse, which is born out of the womb of science and which we are completely compelled to bear.

Pollution means the creation of a defect in the natural balance, that is, getting pure air, not getting pure water, neither getting pure food nor getting a calm environment. Thus this pollution is of many types. The major pollutions are air pollution, water pollution, and noise pollution.

Air pollution is more spread in the metros. Here round the clock the smoke emanating from factories and motor vehicles has spread in such a way that it has become difficult to breathe in the air. When the women here go to take off the washed clothes from the terrace, then black particles are found frozen on them. These particles go into the human lungs with the breath and give rise to incurable diseases. This problem is more pronounced where there is a dense population and there is a lack of trees. It can also be seen with open eyes on the leaves of trees. That is why animals do not eat these leaves as fodder.

The contaminated water of factories and factories mixes in rivers and streams and creates severe water pollution. During floods, the foul-smelling water of factories mixes in all the drains. This causes many diseases. Even those rivers, which we consider sacred and which we worship like our mothers, have not survived from its impact. Nowadays, deafness and stress have made deafness and stress an integral part of life.

Keep in mind, if we are not aware of this imbalance in nature, then progress and development will prove to be a great loss for human society.


मै आशा करती हूँ कि  प्रदूषण एक गंभीर समस्या पर लिखा यह निबंध ( प्रदूषण एक गंभीर समस्या   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Pollution a Serious Problem in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.