X

मेरे प्रिय अध्यापक  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher in Hindi

मेरे प्रिय अध्यापक  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher in Hindi

मेरे प्रिय अध्यापक से जुड़े छोटे निबंध जैसे मेरे प्रिय अध्यापक पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on My Dear Teacher in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

हमारे विद्यालय में करीब पचास शिक्षक-शिक्षिकाएं हैं। सभी अपने-अपने विषय के माहिर हैं। सभी अपने-अपने वर्ग में ठीक समय पर उपस्थित होते हैं। और बच्चों को अच्छी तरह अपने विषय का समुचित ज्ञान देते हैं।

हमारा विद्यालय मुंबई शहर का एक आदर्श विद्यालय है। इस विद्यालय का परीक्षा फल हर वर्ष सौ प्रतिशत आता है। यह चमत्कार सिर्फ शिक्षकों के प्रयत्न का ही फल है। वैसे तो हम प्रत्येक शिक्षक का सम्मान करते हैं, लेकिन उनमें से मुझे नायक सर अधिक अच्छे लगते हैं।

नायक सर इंग्लिश के शिक्षक हैं। वे आठवीं से दसवीं तक के विद्यार्थियों को अंग्रेजी सिखाते हैं। वे स्वच्छता एवं सादगी की मानो साक्षात् मूर्ति हैं। उनके आचार-विचार एवं स्वभाव से उन्हें कोई इंग्लिश शिक्षक नहीं कह सकता। अंग्रेजी शिक्षक होते हुए भी हिंदुस्तानी लिबास ही उन्हें पसंद है।

वे बड़े विनम्र एवं मृदुभाषी हैं। उनके व्यक्तित्व को देखकर कोई भी उन्हें भारत माता का सच्चा सपूत एवं भारतीय सभ्यता-संस्कृति का पुजारी कह सकता है। यदि उन्हें कोई ‘गुड मॉर्निंग’ या ‘गुड इवनिंग’ कहता है, तो वे दोनों हाथ जोड़कर मुस्कराते हुए ‘नमस्कार’ शब्द से उसके अभिवादन का उत्तर देते हैं।

अपने इन्हीं गुणों के कारण वे पूरे विद्यालय में आदर्श एवं प्रिय शिक्षक माने जाते हैं। उनका मानना है कि अंग्रेजी भाषा सीखने का अर्थ यह नहीं है कि हम अपनी संस्कृति सभ्यता को भूल जाएं। हां, अच्छाई को तो कहीं से भी सीखा जा सकता है।

वे समय के पाबंद हैं। विद्यालय शुरू हुआ, घंटी बजी कि वे अपने वर्ग में उपस्थित हो गए। वे बड़े ही अनुशासनप्रिय हैं। उनके वर्ग में सभी छात्र एवं छात्राएं शांत भाव से दत्त-चित्त होकर सबक सीखते हैं।

अगर कोई छात्र उद्दंडता करता है, तब वे उसे सिर्फ वर्ग के बाहर खड़ा कर देते हैं, दूसरा कोई दंड उसे नहीं देते। जब उनकी क्लास समाप्त हो जाती है, तब उसे अपने पास बुलाकर प्यार से उदंडता न करने की सीख देते हैं।

यह भी पढ़ें:

मेरी यात्रा  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Journey in Hindi
मेरी दिनचर्या  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on My Routine in Hindi
हमारा विद्यालय  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on My School in Hindi
युवा पीढ़ी की ताकत  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Power of Young Generation in Hindi

200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher in English

200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher

There are about fifty teachers in our school. Everyone is an expert in their own subject. All are present in their respective classes on time. And give proper knowledge of their subject to the children well.

Our school is a model school in the city of Mumbai. The examination result of this school is 100% every year. This miracle is only the result of the efforts of the teachers. Although we respect each and every teacher, among them I like Nayak Sir better.

Nayak sir is a teacher of English. He teaches English to students from class VIII to X. He is a real idol of cleanliness and simplicity. No one can call him an English teacher because of his conduct and nature. Despite being an English teacher, he likes Hindustani clothes only.

They are very polite and soft-spoken. Seeing his personality, one can call him a true son of Mother India and a priest of Indian civilization and culture. If someone says ‘good morning’ or ‘good evening’ to them, they smile with folded hands and respond with the word ‘namaste’.

Due to these qualities, he is considered the ideal and beloved teacher in the whole school. He believes that learning the English language does not mean that we should forget our culture and civilization. Yes, goodness can be learned from anywhere.

They are punctual. School started, the bell rang that they attended their class. They are very disciplined. All the students and girls in his class learn the lesson with a calm mind and heart.

If a student is abusive, then they just make him stand outside the class, no other punishment is given to him. When his class is over, he invites her to his side and lovingly teaches him not to be arrogant.


मै आशा करती हूँ कि  मेरे प्रिय अध्यापक पर लिखा यह निबंध ( मेरे प्रिय अध्यापक   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on My Dear Teacher in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.