X

मदर्स डे  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Mother’s Day in Hindi

मदर्स डे  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Mother’s Day in Hindi

मदर्स डे से जुड़े छोटे निबंध जैसे मदर्स डे पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Mother’s Day in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Mother’s Day in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

मदर्स डे मनाने की परंपरा बहुत पुरानी नहीं है। सत्रहवीं शताब्दी में युनाइटेड किंगडम में इसे मनाना शुरू किया गया था। एक पुरानी परंपरा के अनुसार ईसाइयों को अपनी मां के साथ चर्च में साल में कम-से-कम एक दिन अवश्य जाना चाहिए. इस दिन ऐसा ही करने की परंपरा शुरू हुई, इसीलिए इसे ‘मदर्स डे’ नाम दे दिया गया। पहले यह दिन लेंट (ईस्टर के चालीस दिन पहले) के चौथे रविवार को मनाया जाता था, जिसे ‘मदरिंग संडे’ या ‘मिडलॅट संडे’ कहा जाता था, जो मार्च में आता है। ब्रिटेन में 16वीं शताब्दी में इसे मनाने की परंपरा का उल्लेख मिलता है। जो लोग अपने गांव से दूर शहरों में नौकरी करते थे, वे इस दिन अवकाश लेकर घर आते थे तथा गांव में इस समय मां तथा अन्य परिजनों के साथ उत्सव मनाते थे, जिसमें खाने-पीने और हंसने-हंसाने की परंपरा थी। शहर से आने वाले कामगार मां के लिए केक तथा अन्य उपहार लेकर आते थे। इस दिन एक विशेष केक का बड़ा महत्व होता था, जिसे ‘मदरिंग केक’ या ‘सिमनल केक’ कहा जाता था।

पुरातन ग्रीस में वर्ष में एक दिन देवों की मां ‘रोहा’ के नाम पर वसंत ऋतु में उत्सव मनाने की भी प्रथा थी। इस अवसर पर सुबह-सुबह उठ कर रीहा को शहद से बने केक का भोग लगाया जाता था, उसे उत्तम पेय चढ़ाया जाता था तथा इसका फूलों से अभिनंदन किया जाता था। ऐसा लगता है कि मां को ‘मदर्स डे’ पर विस्तर में फूल और सुबह का नाश्ता देने की प्रथा तभी से शुरू हुई।

अलग-अलग देशों में इस दिन को मनाने की परंपरा थी, जिसके कारण और उद्देश्य भी अलग-अलग थे। आस्ट्रेलिया, मैक्सिको, डेनमार्क, फिनलैंड, इटलो, टर्की, बेल्जियम, रूस, चीन और थाईलैंड में ‘मातृदिवस’ मनाने की परंपरा अमेरिका से पहले से जारी है। भारत में मां के महत्व को धार्मिक अनुष्ठानों से बहुत पहले से जोड़ा जाता रहा है। नवरात्रों में देवी की पूजा और कन्याओं को खिलाने की प्रथा काफी कुछ पश्चिम के ‘मदर्स डे’ से मिलती-जुलती है। बाइबिल में ‘ईव’ को समस्त प्राणियों की मां माना गया है।

यह भी पढ़ें

भारत की एकता  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Unity of India in Hindi
टीवी और विद्यार्थी  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on TV and Students in Hindi
पीवी नरसिंह राव  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on PV Narsimha Rao in Hindi
अनुशासन का अर्थ  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Meaning of Discipline in Hindi

200-300 Words Essay speech on Mother’s Day in English

200-300 Words Essay speech on Mother’s Day

The tradition of celebrating Mother’s Day is not very old. It was started to be celebrated in the United Kingdom in the seventeenth century. According to an old tradition, Christians must accompany their mothers to church at least once a year. The tradition of doing the same started on this day, hence the name ‘Mother’s Day. The day was previously celebrated on the fourth Sunday of Lent (forty days before Easter), called ‘Mothering Sunday’ or ‘Middle Sunday’, which falls in March. The tradition of celebrating it is found in Britain in the 16th century. Those who worked in cities away from their villages used to come home on this day after taking a break and celebrated this time in the village with mother and other family members, in which there was a tradition of eating and drinking and laughing. Workers coming from the city brought cakes and other gifts for the mother. A special cake was of great importance on this day, which was called ‘Mothering Cake’ or ‘Simnal Cake’.

In ancient Greece, there was also a custom of celebrating one day a year in the spring in the name of ‘Roha’, the mother of the gods. On this occasion, Riha was offered a cake made of honey early in the morning, she was offered a good drink and was greeted with flowers. It seems that the practice of giving flowers and breakfast to the mother in the bed on Mother’s Day started from then onwards.

There was a tradition of celebrating this day in different countries, due to which the reasons and purposes were also different. In Australia, Mexico, Denmark, Finland, Italo, Turkey, Belgium, Russia, China, and Thailand, the tradition of celebrating ‘Mother’s Day continues before America. In India, the importance of the mother has been associated with religious rituals for a long time. The practice of worshiping the goddess and feeding the girls during Navratras is very similar to ‘Mother’s Day’ of the West. In the Bible, Eve is considered the mother of all beings.


मै आशा करती हूँ कि  मदर्स डे पर लिखा यह निबंध ( मदर्स डे   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Mother’s Day in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calendar Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.