X

कमल  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Lotus in Hindi

कमल  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Lotus in Hindi

कमल  पर से जुड़े छोटे निबंध जैसे कमल  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Lotus in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Lotus in Hindi 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

भारत का राष्ट्रीय पुष्प कमल है। इसका वैज्ञानिक नाम ‘निलमबों नूसीपेरा गेर्टन’ है। यह एक पवित्र फूल के रूप में लोगों के बीच प्रसिद्ध है। प्राचीन भारत की कला में इसका बखूबी प्रयोग किया गया है। कमल अति प्राचीन समय से ही भारतीय संस्कृति का प्रतीक रहा है।

कमल प्रमुख रूप से दो रंगों में पाया जाता है सफेद एवं गुलाबी यह तालाबों, पोखरों एवं कीचड़ भरी जगहों में पाया जाता है। इसकी सुंदरता आकर्षक होती है, जिसे देखकर ही इस कहावत का प्रयोग किया जाता है कि कीचड़ में भी कमल खिलता है। हिंदू मान्यता के अनुसार, कमल धन की देवी लक्ष्मी का सिंहासन है। भगवान विष्णु के एक हाथ में ‘पद्म’ विशेष प्रतीक रूप में दिखाया जाता है। यह उनकी कृपा और पवित्रता का सूचक है।

भारतीय चिंतन के अनुसार, कमल जीवन का प्रतीक है क्योंकि कीचड़ से पैदा होने के बावजूद यह गंदगी से रहित होता है और चारों ओर अपनी खुशबू फैलाता है। गीता में श्रीकृष्ण ने कहा है कि मनुष्य को कमल की तरह जल में रहते हुए भी जल के ऊपर ही होना चाहिए। कमल के पत्ते कभी पानी से गीले नहीं होते हैं। अर्थात् ‘रहो दुनिया में यूं जैसे कमल रहता है पानी में

संस्कृत में इसे कई नामों से जाना जाता है पद्म, पंकज, पंकरुह, सरसिज, सरोज, सरोरुह, सरसोरुह, जलज, जलजात, नीरज, वारिज, अंभोरुह, अंबुज, अंभोज, अब्ज, अरविंद, नलिन, उत्पल, पुंडरीक, तामरस, इंदीवर, कवल एवं वनज आदि।

फारसी में कमल को ‘नीलोफर’ कहते हैं और अंग्रेजी में ‘इंडियन लोटस’ या’ सैक्रेड लोटस’। भारत के सभी उष्ण भागों में तथा ईरान से लेकर ऑस्ट्रेलिया तक यह पाया जाता है। देवी-देवताओं को प्रसन्न करने के लिए किए जाने वाली विभिन्न पूजाओं में अलग-अलग के रंग कमल पुष्पों का विशेष महत्व है।

यह भी पढ़ें

दीपावली पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Deepawali in Hindi
भ्रष्टाचार पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Corruption in Hindi
दशहरा पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Dussehra in Hindi
बैडमिंटन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Badminton in Hindi

200-300 Words Essay speech on Lotus in English

200-300 Words Essay speech on Lotus

The national flower of India is the lotus. Its scientific name is ‘Nelumbo Nucipera Gaertn. It is famous among people as a sacred flower. It has been used well in the art of ancient India. Lotus has been a symbol of Indian culture since time immemorial.

Lotus is mainly found in two colors white and pink It is found in ponds, puddles, and muddy places. Its beauty is attractive, seeing which the proverb is used that the lotus blooms even in the mud. According to Hindu belief, the lotus is the throne of Lakshmi, the goddess of wealth. The ‘Padma’ is shown as a special symbol in one hand of Lord Vishnu. It is an indicator of his grace and purity.

According to Indian thought, the lotus is a symbol of life because despite being born of mud, it is free from dirt and spreads its fragrance all around. In the Gita, Shri Krishna has said that a man should be above water even though he is living in water like a lotus. Lotus leaves never get wet with water. That is, ‘Stay in the world like a lotus lives in water’
In Sanskrit it is known by many names Padma, Pankaj, Pankaruh, Sarsij, Saroj, Saroruh, Sarsoruh, Jalaj, Jaljaat, Neeraj, Warij, Ambhoruh, Ambuj, Ambhoja, Abja, Aravind, Nalin, Utpal, Pundarik, Tamaras, Indivar , Kaval and Vanaj etc.

Lotus is called ‘Nilofar’ in Persian and ‘Indian Lotus’ or ‘Sacred Lotus’ in English. It is found in all the tropical parts of India and from Iran to Australia. Different colored lotus flowers have special significance in various pujas performed to please the deities.


मै आशा करती हूँ कि  कमल  पर   पर लिखा यह निबंध ( कमल  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Lotus in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calender Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.