X

भारतीय संस्कृति    पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Indian Culture in Hindi

भारतीय संस्कृति    पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Indian Culture in Hindi

भारतीय संस्कृति से जुड़े छोटे निबंध जैसे भारतीय संस्कृति    पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Indian Culture in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Indian Culture in Hindi for Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

भारतीय संस्कृति सुसंस्कृत और मूल्यों पर आधारित परिवार और समाज का निर्माण करने के संदर्भ में भारतीय विश्वभर में आदर्श माने जाते हैं। भारत के लोग अपनी संस्कृति की रक्षा के लिए बड़े से बड़ा त्याग कर सकते हैं। इस सामाजिक अध्ययन ने विश्व के सभी देशों को इस संस्कृति के मूल्यों को अपनाने को प्रेरित किया , यह भारतीयों के लिए गर्व की बात है।

भारत का इतिहास दुनिया में सबसे पुराना है। हिंदू धर्म के ग्रंथों, पुराणों में इस संस्कृति को हजारों वर्ष पुराना माना जाता है। इसकी पुष्टि करने वालों सदियों पुरानी धरोहरें जगह-जगह मिल जाएंगी। यह सब हमारे विकसित होने के प्रमाण हैं।

पांच हजार साल पुराना मानने में तो कई प्रमाण हैं। आधुनिक इतिहासकारों को भी ऐसा मानने में कोई परेशानी नहीं है। उनके अनुसार, उससे पूर्व का इतिहास श्रुति (किंवदतियों) के आधार पर पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ता रहा है।

ज्ञान के क्षेत्र में भारत ने दुनिया को बहुत कुछ दिया है। शून्य से लेकर ब्रह्मांड में हो रही उथल-पुथल की जानकारियों से विश्व को अवगत कराने में भारत का योगदान अद्वितीय है। हमारे पंचांग, हमारी जन्म की दशा और दिशा पर ग्रहों के पड़ने वाले प्रभावों का अध्ययन भी पूर्ण रूप से वैज्ञानिक है। इस प्रकार कल्पनाओं को साकार करने में भी भारतीय अग्रणी रहे हैं।

पुरातत्व की दृष्टि से यहां की इमारतों तथा मंदिरों ने समूचे विश्व को आकर्षित किया है। विद्वानों का मानना है कि सामाजिक व्यवस्था, राजनीति विज्ञान आदि भौतिक ज्ञान में भारत का कोई सानी नहीं है। भले ही आज समाज में आई विकृतियों के कारण लोग भारतीय समाज की आलोचना आसानी से कर लेते हैं लेकिन यह समाज की स्थाई व्यवस्था नहीं है। यह परिवर्तन तो प्रत्येक समाज में समय-समय पर होता ही रहता है-इसे नकारा नहीं जा सकता। भारतीय समाज ने हमेशा से हो इस परिवर्तन को स्वीकारा है। यही इस संस्कृति की विशेषता है।

यह भी पढ़ें

आदर्श विद्यार्थी  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Ideal Student in Hindi
आदर्श अध्यापक  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Ideal Teacher in Hindi
विज्ञान की महत्ता  पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Importance of Science in Hindi
भारत-एक लोकतंत्र देश   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on India- A Democratic Country in Hindi

200-300 Words Essay speech on Indian Culture in English

200-300 Words Essay speech on Indian Culture

In the context of building a family and society based on Indian culture, cultured, and values, Indians are considered ideal all over the world. The people of India can make the biggest sacrifice to protect their culture. This social study inspired all the countries of the world to adopt the values ​​of this culture, it is a matter of pride for Indians.

The history of India is one of the oldest in the world. This culture is considered to be thousands of years old in the scriptures of Hinduism, the Puranas. The centuries-old heritage that confirms this will be found everywhere. All these are proofs of our development.

There are many proofs to believe that it is five thousand years old. Even modern historians have no problem in accepting this. According to him, the history before that has been passed on from generation to generation on the basis of Shruti (legends).

India has given a lot to the world in the field of knowledge. India’s contribution is unparalleled in making the world aware of the upheavals happening in the universe from zero. The study of the effects of planets on our Panchang, our birth position, and our direction is also completely scientific. In this way, Indians have also been pioneers in making dreams come true.

From the point of view of archeology, the buildings and temples here have attracted the whole world. Scholars believe that India has no match in physical knowledge like social system, political science, etc. Even though people easily criticize Indian society due to the distortions in society today, but it is not a permanent system of society. This change happens from time to time in every society – it cannot be denied. Indian society has always accepted this change. This is the specialty of this culture.


मै आशा करती हूँ कि  भारतीय संस्कृति    पर   पर लिखा यह निबंध ( भारतीय संस्कृति   पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Indian Culture in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calender Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.