X

परोपकार  200 – 300 शब्दों में  निबंध भाषण । 200-300 Words Essay speech on Charity in Hindi

परोपकार  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Charity in Hindi

परोपकार से जुड़े छोटे निबंध जैसे परोपकार  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Charity in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay speech on Charity in Hindi 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

परोपकार का अर्थ है दूसरों की भलाई करना। कोई व्यक्ति जीविकोपार्जन के लिए विभिन्न उद्यम करते हुए यदि दूसरे व्यक्तियों और जीवधारियों की मलाई के लिए कुछ प्रयत्न करता है तो ऐसे प्रयत्न परोपकार की श्रेणी में आते है परोपकार के समान कोई धर्म नहीं है। मन, वचन और कर्म से परोपकार की भावना से कार्य करने वाले व्यक्ति संत की श्रेणी में आते हैं। ऐसे सत्पुरुष जो बिना किसी स्वार्थ के दूसरों पर उपकार करते हैं, देवकोटि के अंतर्गत कहे जा सकते हैं।

परोपकार से शत्रु भी मित्र बन जाता है। यदि शत्रु पर विपत्ति के समय उपकार किया जाए तो वह भी उपकृत होकर सच्चा मित्र बन जाता है। भौतिक जगत् का प्रत्येक पदार्थ ही नहीं, बल्कि पशु-पक्षी भी मनुष्य के उपकार में सदैव लगे रहते हैं। यही नहीं, सूर्य, चंद्र, नक्षत्र, आकाश, वायु, अग्नि, जल, पृथ्वी, फल, फूल आदि मानव कल्याण में तत्पर रहते हैं। कहा भी गया है वृक्ष कबहूँ नहि फल भर्ख नदी न संचै नौर। परमारथ के कारने साधुन धरा शरीर॥

इनसे मानव को न केवल दूसरे मनुष्यों बल्कि पशु-पक्षियों के प्रति भी उपकार करने की प्रेरणा मिलती है। असहाय लोगों, रोगियों और विकलांगों को सेवा परोपकार के अंतर्गत आने वाले मुख्य कार्य है। सच्चा परोपकारी वहाँ व्यक्ति है जो प्रतिफल की भावना न रखते हुए परोपकार करता है।

विज्ञान ने आज इतनी उन्नति कर ली है कि मरने के बाद भी हमारी आंखों की ज्योति और अन्य कई अंग किसी अन्य व्यक्ति के जीवन को बचाने का काम कर सकते हैं। इनका जीवन रहते ही दान कर देना महान उपकार है। परोपकार के द्वारा ईश्वर की समीपता प्राप्त होती है। इस प्रकार परोपकार ईश्वर प्राप्ति का एक सबल सोपान भी है।

यह भी पढ़ें

अब्दुल कलाम  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, speech on Abdul Kalam in Hindi
अब्राहम लिंकन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in Hindi
बाल गंगाधर तिलक  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Bal Gangadhar Tilak in Hindi
संगम स्नान  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, speech on Bath in Sangam in Hindi
विज्ञान के लाभ  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, speech on Benifits of Science in Hindi

200-300 Words Essay speech on Charity in English

200-300 Words Essay speech on Charity

Charity means doing good to others. If a person makes some effort for the cream of other people and living beings while doing various ventures to earn a living, then such efforts come in the category of charity, there is no religion like charity. Those who act in the spirit of benevolence through mind, word, and deed come under the category of saints. Such good men who do good to others without any selfishness can be called Devkoti.

By charity, even an enemy becomes a friend. If the enemy is favored at the time of calamity, then he also becomes a true friend by being obliged. Not only every substance in the material world but also animals and birds are always engaged in the benevolence of man. Not only this, Sun, Moon, Nakshatra, Sky, Air, Fire, Water, Earth, Fruits, Flowers, etc. are ready for human welfare. It has also been said that the tree is neither fruit nor fruit, river nor water. Due to Paramarath, the body became virtuous.

These inspire human beings to be grateful not only to other humans but also to animals and birds. Service to the helpless people, patients, and handicapped is the main work under Charity. A true philanthropist is a person who does charity without a sense of reward.

Science has made so much progress today that even after death, the light of our eyes and many other organs can work to save the life of another person. It is a great favor to donate them while they are alive. Closeness to God is achieved through charity. Thus benevolence is also a strong step towards God-realization.


मै आशा करती हूँ कि  परोपकार   पर लिखा यह निबंध ( परोपकार  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Charity in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calender Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.