X

बैडमिंटन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Badminton in Hindi

बैडमिंटन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Badminton in Hindi

बैडमिंटन से जुड़े छोटे निबंध जैसे बैडमिंटन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay speech on Badminton in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Badminton in Hindi 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

बैडमिंटन रैकेट से खेला जाने वाला एक खेल है, जो दो विरोधी खिलाड़ियो ‘एकल’ या दो विरोधी जोड़ा ‘युगल’ द्वारा नेट से विभाजित एक आयताकार कोर्ट में आमने-सामने खेला जाता है। खिलाड़ी अपने रैकेट से शटलकॉक को  स्ट्राइक करके अपने विरोधी पक्ष के कोर्ट के आधे हिस्से में गिराकर प्वाइंट्स प्राप्त करते हैं। एक रैली तब समाप्त हो जाती है, जब शटलकॉक मैदान में गिर जाती है और प्रत्येक पक्ष शटलकॉक के उस पार जाने से पहले उस पर सिर्फ एक बार ही शॉट लगा सकता है।

शटलकॉक (या शटल) चिड़ियों के पंखों से बनी एक ऐसी वस्तु है, जो अपनी अनोखी उड़ान क्षमता के कारण अधिकांश रैकेट खेलों की गेंदों की तुलना में अलग तरह से उड़ा करती है। खासतौर पर, इसके पंख क्योंकि ज्यादा ऊंचाई तक खिंचे जा सकते हैं, इसलिए गेंद की तुलना में यह कहीं अधिक में तेजी से घूमती है।

अन्य रैकेट के खेलों की तुलना में शटलकॉक की शीर्ष गति बहुत अधिक होती है। चूंकि शटलकॉक की उड़ान हवा से प्रभावित होती हैं, इसीलिए बैडमिंटन प्रतिस्पर्धाएं इनडोर में ही होती हैं। कभी-कभी मनोरंजन के लिए बगीचे या समुद्र तट पर खुले में भी बैडमिंटन खेला जाता है।

सन् 1992 से पांच इवेंट के साथ, बैडमिंटन एक ओलंपिक खेल रहा है। पुरुषों और महिलाओं के एकल, पुरुषों और महिलाओं के युगल और मिश्रित युगल, जिसमें प्रत्येक जोड़ी में एक पुरुष और एक महिला होती है, इसकी अलग-अलग स्पर्धाएं होती हैं। खेल के उच्च स्तर के लिए उत्कृष्ट शारीरिक फिटनेस का होना जरूरी है। खिलाड़ियों में एरोबिक क्षमता, दक्षता, शक्ति, गति और फिटनेस की बहुत जरूरत होती है।

इस खेल में खिलाड़ी का फुटवर्क पर पूरा नियंत्रण होना चाहिए। फिजीकल फिटनेस के साथ ही इसमें मानसिक संतुलन की भी महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचने के लिए अपनी क्षमता और दूसरे खिलाड़ी की तकनीक को समझना बहुत जरूरी हुआ करता है।

यह भी पढ़ें

क्रिसमस पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Christmas in Hindi
दीपावली पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Deepawali in Hindi
भ्रष्टाचार पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay speech on Corruption in Hindi
दशहरा पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Dussehra in Hindi

200-300 Words Essay speech on Badminton in English

200-300 Words Essay speech on Badminton

Badminton is a racquet game played face to face on a rectangular court divided by a net by two opposing players ‘Singles’ or two opposing pairs ‘Doubles’. Players earn points by striking the shuttlecock with their racquets and dropping them into half of the court on their opponents’ side. A rally ends when the shuttlecock lands on the ground and each side can only hit the shuttlecock once before it crosses it.

A shuttlecock (or shuttle) is an object made of bird feathers that, due to its unique flying ability, flies differently than the balls of most racquet sports. In particular, because its wings can be stretched to higher altitudes, it spins much faster than a ball.

The shuttlecock has a very high top speed compared to other racket sports. Since the flight of the shuttlecock is influenced by the wind, badminton competitions are held indoors. Sometimes badminton is also played in the open in the garden or on the beach for entertainment.

Badminton has been an Olympic sport since 1992, with five events. There are separate events in men’s and women’s singles, men’s and women’s doubles, and mixed doubles, with one man and one woman in each pair. Excellent physical fitness is essential for a high level of the sport. Athletes require a lot of aerobic capacity, efficiency, power, speed, and fitness.

In this game, the player should have complete control over the footwork. Along with physical fitness, mental balance also plays an important role in this. To reach the international level, it is very important to understand one’s ability and the technique of the other player.


मै आशा करती हूँ कि  बैडमिंटन पर   पर लिखा यह निबंध ( बैडमिंटन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay speech on Badminton in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calender Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.