X

अब्राहम लिंकन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in Hindi

अब्राहम लिंकन पर  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in Hindi

अब्राहम लिंकन अमेरिका के 16 वें राष्ट्रपति थे , उन्होंने गुलाम प्रथा का अंत करके अमेरिका को दो भागों में बाटे जाने से बचाया I  अब्राहम लिंकन से जुड़े छोटे निबंध जैसे  अब्राहम लिंकन  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण  स्कूल में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम  200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in Hindi के बारे में बात करेंगे ।

200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in Hindi 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

अब्राहम लिंकन का जन्म 12 फरवरी, 1809 में केंटकी संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ था। इनका जन्म एक ऐसे गरीब अश्वेत परिवार में हुआ था जिसके पास रहने को न अच्छा घर था और न ही बच्चों को शिक्षा प्राप्त कराने का कोई साधन। ये दूसरों से पुस्तके मांगकर, रात को चूल्हे की आग के प्रकाश में पढ़ा करते थे।

उस समय देश में गुलामी की प्रथा थी। गोरे लोग दक्षिणी राज्यों के बड़े खेतों के मालिक थे और वे अफ्रीका में काले लोगों को अपने खेतों में काम करने के लिए लाते थे। इन लोगों को दासों के रूप में रखा जाता था। उत्तरी राज्यों के लोग गुलामी को इस प्रथा के खिलाफ थे और इसे समाप्त करना चाहते थे अमेरिका का संविधान क्योंकि समानता पर आधारित है, उसमें गुलामी के लिए कोई जगह नहीं थी इसलिए काले अफ्रीकियों ने अपने अधिकारों के लिए संघर्ष किया।

काले-गोरे के बीच छिड़े संघर्ष के इस मुश्किल समय में अब्राहम लिंकन अमेरिका के सोलहवें राष्ट्रपति के रूप में चुने गए। इनका कार्यकाल 1861 से 1865 तक था। ये एक कुशल राजनीतिज्ञ होने के साथ-साथ पुस्तक प्रेमी, गंभीर विचारक और लेखक भी थे।

इन्होंने देश को सदा के लिए दो भागों में बांटने से बचाया और भयंकर रूप से अमानवीय गुलाम प्रथा से भी देश को मुक्ति दिलाई। अब्राहम लिंकन में अमेरिका को उसके सबसे बड़े सकट-गृहयुद्ध की संभावना को खत्म करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। अमेरिका में दास प्रथा के अंत का श्रेय लिंकन को ही जाता है। इनका निधन 15 अप्रैल, 1865 में हुआ।

यह भी पढ़ें

कंप्यूटर है आज की जरूरत 200-300 शब्दों में निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, Speech on Computer- Need Of Today in Hindi
अब्दुल कलाम आज़ाद  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण – 200-300 Words Essay, speech on Abdul Kalam in Hindi

200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in English

200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln

Abraham Lincoln was born on February 12, 1809, in Kentucky, United States. He was born in such a poor black family that neither had a good house to live in nor any means of getting an education for the children. He used to read at night under the light of the stove, asking for books from others.

At that time there was a system of slavery in the country. White people owned large farms in the southern states and they brought black people to Africa to work on their farms. These people were kept as slaves. The people of the northern states were against this practice of slavery and wanted to end it because the US constitution is based on equality, there was no place for slavery in it, so black Africans fought for their rights.

In this difficult time of conflict between black and white, Abraham Lincoln was elected as the sixteenth President of America. His term was from 1861 to 1865. Apart from being a skilled politician, he was also a book lover, serious thinker, and writer.

He saved the country from being divided into two parts forever and also liberated the country from the horribly inhuman slavery system. In Abraham Lincoln, America played an important role in ending the possibility of its biggest civil war. The credit for the end of slavery in America goes to Lincoln. He died on April 15, 1865.

मै आशा करता हूँ कि अब्राहम लिंकन पर लिखा यह निबंध (  अब्राहम लिंकन  200 – 300 शब्दों में  निबंध,भाषण । 200-300 Words Essay, speech on Abraham Lincoln in Hindi ) आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share) करेंगें I


सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकण्डरी एजुकेशन की  नई ऑफिशियल वेबसाईट है : cbse.nic.in. इस वेबसाईट की मदद से आप सीबीएसई बोर्ड की अपडेट पा सकते हैं जैसे परिक्षाओं के रिजल्ट, सिलेबस,  नोटिफिकेशन, बुक्स आदि देख सकते है. यह बोर्ड एग्जाम का केंद्रीय बोर्ड है.

संघ लोक सेवा आयोग का एग्जाम कैलेंडर {Exam Calender Of -UNION PUBLIC COMMISSION (UPSC) लिंक/Link

नमस्कार , मेरा नाम अंजू वर्मा है | मै उत्तर प्रदेश के छोटे से गाँव से हूँ | मै हिंदी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट हूँ| हिंदी साहित्य में मेरा जुड़ाव बचपन से ही रहा है इसीलिए मैंने परास्नातक के लिये हिंदी को ही एक विषय के रूप में चुना |अंग्रेजी के इस दौर में जहाँ हिंदी एक स्लोगन बनता जा रहा है जबकि जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी है |लेकिन हम अंग्रेजी बोंलने को एक हाई सोसाइटी से जुड़ाव का माध्यम मानने लगे हैं | मुझे कुकिंग, घूमने एवम लिखने का शौक है मै ज्यादातर हिंदी भाषा , मोटिवेशनल कहानी, और फेमस लोगों के बारे में लिखती हूँ |

This website uses cookies.