X

अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस पर 10 लाइन निबंध।10 lines on World Non-Violence Day in Hindi

अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस पर 10 लाइन निबंध-10 lines on World Non-Violence Day in Hindi

सत्य और अहिंसा के पुजारी “गाँधी जी” के जन्मदिन दिन के अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस मनाया जाता है I अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस से जुड़े छोटे निबंध जैसे ‘अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस पर 10 लाइन निबंध‘ स्कूल में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11,और 12 में  पूछे जाते है। इसलिए आज हम ‘ 10 lines on World Non-Violence  Day in Hindi’ के बारे में बात करेंगे ।

10 Lines on World Non-Violence  Day in Hindi For Class 1, 2, 3, 4, 5 To 12

  1. अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस 2 अक्टूबर को मनाया जाता है जो महात्मा गांधी जी का जन्मदिन है I
  2. गांधीजी एक संत, राजनीतिज्ञ थे। उन्होंने अपने देशवासियों को हिंसा का सहारा नहीं लेने की शिक्षा दीI
  3. गांधीजी अहिंसा आंदोलन के सूत्रधार थे।
  4. अहिंसा का अर्थ केवल बाहरी शारीरिक हिंसा से ही नहीं बल्कि आत्मा की आंतरिक हिंसा से भी बचना है।
  5. अहिंसा के सिद्धांतों को लागू करने से व्यक्तिगत, स्थानीय, राष्ट्रीय और वैश्विक स्तर पर संघर्ष के गुस्से और हिंसा को कम किया जा सकता है।
  6. अहिंसा को छात्रों, समुदायों और समाज के लिए एक शक्तिशाली रणनीति के रूप में मान्यता दी गई है।
  7. २०वीं शताब्दी के दौरान भारत में गांधीजी और संयुक्त राज्य अमेरिका में मार्टिन लूथर किंग जूनियर के इस सफल सामाजिक आंदोलन ने नए आयामों का निर्माण किया।
  8. सत्य और अहिंसा केवल व्यक्तिगत व्यवहार के लिए नहीं है बल्कि इसे वैश्विक मामलों में भी लागू किया जा सकता है।
  9. अहिंसा सदियों से भारतीय धार्मिक परंपरा का हिस्सा रही है I
  10. गांधीजी को उनके सत्य और अहिंसा के मार्ग के कारण भारत की स्वतंत्रता के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक माना जाता है।
मेरी बहन पर 10 लाइन निबंध- 10 lines on My Sister in Hindi
मेरा परिवार पर 10 लाइन निबंध- 10 lines on My Family in Hindi
मेरे पिता जी  पर 10 लाइन निबंध-10 lines on My Father  in Hindi
विश्व पर्यटन दिवस पर 10 लाइन निबंध-10 lines on World Tourism Day in Hindi

Best 10 Lines on World Non-Violence Day in English

  1. International Day of Non-Violence is celebrated on 2nd October, the birthday of Mahatma Gandhi.
  2. Gandhiji was a saint, politician. He taught his countrymen not to resort to violence.
  3. Gandhiji was the architect of the non-violence movement.
  4. Non-violence means abstaining not only from external physical violence but also from internal violence of the soul.
  5. Applying the principles of non-violence can reduce the anger and violence of conflict at the individual, local, national and global levels.
  6. Nonviolence has been recognized as a powerful strategy for students, communities and society.
  7. This successful social movement under Gandhiji in India and Martin Luther King Jr in the United States created new dimensions during the 20th century.
  8. Truth and non-violence are not only meant for individual behavior but can be applied to global affairs as well.
  9. Nonviolence has been a part of Indian religious tradition for centuries.
  10. Gandhiji is considered one of the most prominent leaders of India’s independence because of his path of truth and non-violence.

Best 10 Lines on World Non-Violence  Day in Punjabi – अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस  की कुछ जानकारी पंजाबी भाषा में

  1. ਅੰਤਰਰਾਸ਼ਟਰੀ ਅਹਿੰਸਾ ਦਿਵਸ 2 ਅਕਤੂਬਰ ਨੂੰ ਮਹਾਤਮਾ ਗਾਂਧੀ ਦੇ ਜਨਮ ਦਿਵਸ ਵਜੋਂ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ.
  2. ਗਾਂਧੀ ਜੀ ਇੱਕ ਸੰਤ, ਸਿਆਸਤਦਾਨ ਸਨ। ਉਸ ਨੇ ਆਪਣੇ ਦੇਸ਼ ਵਾਸੀਆਂ ਨੂੰ ਹਿੰਸਾ ਦਾ ਸਹਾਰਾ ਨਾ ਲੈਣਾ ਸਿਖਾਇਆ।
  3. ਗਾਂਧੀ ਜੀ ਅਹਿੰਸਾ ਲਹਿਰ ਦੇ ਨਿਰਮਾਤਾ ਸਨ।
  4. ਅਹਿੰਸਾ ਦਾ ਅਰਥ ਹੈ ਨਾ ਸਿਰਫ ਬਾਹਰੀ ਸਰੀਰਕ ਹਿੰਸਾ ਤੋਂ ਪਰੰਤੂ ਆਤਮਾ ਦੀ ਅੰਦਰੂਨੀ ਹਿੰਸਾ ਤੋਂ ਵੀ ਦੂਰ ਰਹਿਣਾ.
  5. ਅਹਿੰਸਾ ਦੇ ਸਿਧਾਂਤਾਂ ਨੂੰ ਲਾਗੂ ਕਰਨ ਨਾਲ ਵਿਅਕਤੀਗਤ, ਸਥਾਨਕ, ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਅਤੇ ਵਿਸ਼ਵ ਪੱਧਰ ‘ਤੇ ਸੰਘਰਸ਼ ਦੇ ਗੁੱਸੇ ਅਤੇ ਹਿੰਸਾ ਨੂੰ ਘੱਟ ਕੀਤਾ ਜਾ ਸਕਦਾ ਹੈ.
  6. ਅਹਿੰਸਾ ਨੂੰ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ, ਸਮਾਜਾਂ ਅਤੇ ਸਮਾਜ ਲਈ ਇੱਕ ਸ਼ਕਤੀਸ਼ਾਲੀ ਰਣਨੀਤੀ ਵਜੋਂ ਮਾਨਤਾ ਦਿੱਤੀ ਗਈ ਹੈ.
  7. ਭਾਰਤ ਵਿੱਚ ਗਾਂਧੀ ਜੀ ਅਤੇ ਸੰਯੁਕਤ ਰਾਜ ਵਿੱਚ ਮਾਰਟਿਨ ਲੂਥਰ ਕਿੰਗ ਜੂਨੀਅਰ ਦੇ ਅਧੀਨ ਇਸ ਸਫਲ ਸਮਾਜਕ ਲਹਿਰ ਨੇ 20 ਵੀਂ ਸਦੀ ਦੇ ਦੌਰਾਨ ਨਵੇਂ ਆਯਾਮ ਬਣਾਏ.
  8. ਸੱਚ ਅਤੇ ਅਹਿੰਸਾ ਸਿਰਫ ਵਿਅਕਤੀਗਤ ਵਿਵਹਾਰ ਲਈ ਨਹੀਂ ਹਨ ਬਲਕਿ ਵਿਸ਼ਵਵਿਆਪੀ ਮਾਮਲਿਆਂ ਵਿੱਚ ਵੀ ਲਾਗੂ ਕੀਤੇ ਜਾ ਸਕਦੇ ਹਨ.
  9. ਸਦੀਆਂ ਤੋਂ ਅਹਿੰਸਾ ਭਾਰਤੀ ਧਾਰਮਿਕ ਪਰੰਪਰਾ ਦਾ ਹਿੱਸਾ ਰਹੀ ਹੈ।
  10. ਗਾਂਧੀ ਜੀ ਨੂੰ ਸੱਚ ਅਤੇ ਅਹਿੰਸਾ ਦੇ ਮਾਰਗ ਦੇ ਕਾਰਨ ਭਾਰਤ ਦੀ ਆਜ਼ਾਦੀ ਦੇ ਸਭ ਤੋਂ ਪ੍ਰਮੁੱਖ ਨੇਤਾਵਾਂ ਵਿੱਚੋਂ ਇੱਕ ਮੰਨਿਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ.

Best 10 Lines on World Non-Violence  Day in Marathi – अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस  की कुछ जानकारी मराठी भाषा में

  1. 2 ऑक्टोबर रोजी महात्मा गांधींचा वाढदिवस म्हणून आंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिन साजरा केला जातो.
  2. गांधीजी एक संत, राजकारणी होते. त्याने आपल्या देशवासियांना हिंसाचाराचा अवलंब करू नये असे शिकवले.
  3. गांधीजी अहिंसा चळवळीचे शिल्पकार होते.
  4. अहिंसा म्हणजे केवळ बाह्य शारीरिक हिंसाच नव्हे तर आत्म्याच्या अंतर्गत हिंसेपासून दूर राहणे.
  5. अहिंसेची तत्त्वे लागू केल्यास वैयक्तिक, स्थानिक, राष्ट्रीय आणि जागतिक स्तरावर संघर्षाचा राग आणि हिंसा कमी होऊ शकते.
  6. अहिंसा ही विद्यार्थी, समुदाय आणि समाजासाठी एक शक्तिशाली धोरण म्हणून ओळखली गेली आहे.
  7. भारतातील गांधीजी आणि अमेरिकेतील मार्टिन ल्यूथर किंग जूनियर यांच्या अंतर्गत या यशस्वी सामाजिक चळवळीने 20 व्या शतकात नवीन आयाम निर्माण केले.
  8. सत्य आणि अहिंसा हे केवळ वैयक्तिक वर्तनासाठी नाही तर जागतिक घडामोडींवर देखील लागू केले जाऊ शकते.
  9. शतकानुशतके अहिंसा हा भारतीय धार्मिक परंपरेचा एक भाग आहे.
  10. गांधीजींना सत्य आणि अहिंसेच्या मार्गामुळे भारताच्या स्वातंत्र्याचे सर्वात प्रमुख नेते मानले जातात.

Best 10 Lines World Non-Violence  Day in Bangali – अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस  की कुछ जानकारी बंगाली भाषा में

  1. মহাত্মা গান্ধীর জন্মদিন ২ রা অক্টোবর আন্তর্জাতিক অহিংসা দিবস পালিত হয়।
  2. গান্ধীজি ছিলেন একজন সাধু, রাজনীতিবিদ। তিনি তার দেশবাসীকে শিখিয়েছেন সহিংসতা অবলম্বন না করতে।
  3. গান্ধীজি ছিলেন অহিংসা আন্দোলনের স্থপতি।
  4. অহিংসা মানে শুধু বাহ্যিক শারীরিক সহিংসতা নয় বরং আত্মার অভ্যন্তরীণ সহিংসতা থেকে বিরত থাকা।
  5. অহিংসার নীতিগুলি প্রয়োগ করা ব্যক্তি, স্থানীয়, জাতীয় এবং বৈশ্বিক পর্যায়ে সংঘাতের রাগ এবং সহিংসতা হ্রাস করতে পারে।
  6. অহিংসা ছাত্র, সম্প্রদায় এবং সমাজের জন্য একটি শক্তিশালী কৌশল হিসাবে স্বীকৃত হয়েছে।
  7. ভারতে গান্ধীজী এবং মার্কিন যুক্তরাষ্ট্রে মার্টিন লুথার কিং জুনিয়রের অধীনে এই সফল সামাজিক আন্দোলন বিংশ শতাব্দীতে নতুন মাত্রা সৃষ্টি করে।
  8. সত্য এবং অহিংসা শুধুমাত্র ব্যক্তিগত আচরণের জন্য নয়, বৈশ্বিক বিষয়গুলিতেও প্রয়োগ করা যেতে পারে।
  9. শতাব্দী ধরে অহিংসা ভারতীয় ধর্মীয় তিহ্যের একটি অংশ।
  10. গান্ধীজি সত্য এবং অহিংসার পথের কারণে ভারতের স্বাধীনতার অন্যতম বিশিষ্ট নেতা হিসাবে বিবেচিত হন।

Best 10 Lines on   World Non-Violence  Day in Gujrati – अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस  की कुछ जानकारी गुजराती भाषा में

  1. આંતરરાષ્ટ્રીય અહિંસા દિવસ 2 જી ઓક્ટોબર, મહાત્મા ગાંધીના જન્મદિવસ પર ઉજવવામાં આવે છે.
  2. ગાંધીજી એક સંત, રાજકારણી હતા. તેમણે તેમના દેશવાસીઓને હિંસાનો આશરો ન લેવાનું શીખવ્યું.
  3. ગાંધીજી અહિંસા ચળવળના આર્કિટેક્ટ હતા.
  4. અહિંસા એટલે બાહ્ય શારીરિક હિંસાથી દૂર રહેવું પણ આત્માની આંતરિક હિંસાથી દૂર રહેવું.
  5. અહિંસાના સિદ્ધાંતો લાગુ કરવાથી વ્યક્તિગત, સ્થાનિક, રાષ્ટ્રીય અને વૈશ્વિક સ્તરે સંઘર્ષનો ગુસ્સો અને હિંસા ઘટાડી શકાય છે.
  6. અહિંસાને વિદ્યાર્થીઓ, સમુદાયો અને સમાજ માટે શક્તિશાળી વ્યૂહરચના તરીકે માન્યતા આપવામાં આવી છે.
  7. ભારતમાં ગાંધીજી અને યુનાઇટેડ સ્ટેટ્સમાં માર્ટિન લ્યુથર કિંગ જુનિયર હેઠળની આ સફળ સામાજિક ચળવળે 20 મી સદી દરમિયાન નવા પરિમાણો બનાવ્યા.
  8. સત્ય અને અહિંસા માત્ર વ્યક્તિગત વર્તન માટે જ નથી પરંતુ વૈશ્વિક બાબતોમાં પણ લાગુ કરી શકાય છે.
  9. સદીઓથી અહિંસા ભારતીય ધાર્મિક પરંપરાનો એક ભાગ છે.
  10. ગાંધીજી સત્ય અને અહિંસાના માર્ગને કારણે ભારતની આઝાદીના સૌથી અગ્રણી નેતાઓમાંના એક ગણાય છે.

FAQ- 10 Lines on World Non-Violence Day

अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस पहली बार कब मनाया गया?

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 15 जून, 2007 को एक प्रस्ताव पारित कर दुनिया से यह आग्रह किया था कि वह शांति और अहिंसा के विचार पर अमल करे और महात्मा गाँधी के जन्म दिवस को “अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस” के रूप में मनाए।

सत्य और अहिंसा के पुजारी कौन थे?

महात्मा गाँधी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे ?

अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस 2021 के थीम क्या है ?

अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस 2021 के थीम है- “Recovering better for an equitable and sustainable world.”

मै आशा करता हूँ कि  अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस पर लिखा यह निबंध ( अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस  पर 10 लाइन निबंध-10 lines on  World Non-Violence  Day  in Hindi)आपको पसंद आया होगा I साथ ही साथ आप यह निबंध/लेख अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जरूर साझा ( Share)करेंगें I आपके प्यार और आशीर्वाद का आकांक्षी – कुंवर आदित्य चौधरी


मेरा नाम कुंवर आदित्य चौधरी है, मै S.B.PUBLIC SCHOOL में क्लास 8TH का स्टूडेंट हूँ , मेरे शौक पढने -लिखने के साथ-साथ क्रिकेट खेलना ,कभी-कभी online गेम खेलना है .मै डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करना चाहता हूँ .

This website uses cookies.